बढ़ती हुई जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए जनसंख्या नियंत्रित कानून नहीं बनाया गया तो 50 साल बाद अयोध्या में बन रहा भव्य राम मंदिर  होगा खतरे में

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

वाराणसी। यदि देश की बढ़ती हुई जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए जनसंख्या नियंत्रित कानून नहीं बनाया गया तो 50 साल बाद अयोध्या में बन रहा भव्य राम मंदिर खतरे में पड़ेगा। उक्त बातेअंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष डा. प्रवीण तोगड़िया ने राम मंदिर और जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर वाराणसी में कही।इसके साथ ही कहा कि इससे राम मंदिर ही नही बल्कि देश के करोड़ो हिंदुओं और उनके घर परिवार कश्मीर घाटी की तरह सुरक्षित नहीं रहेंगे।

गुरुधाम स्थित श्री राम जानकी मंदिर के बाहर मीडिया से बातचीत में प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि ज्ञानवापी मंदिर था वह सिद्ध हो गया। वहां बाबा विश्वनाथ विराजमान हैं। शिवलिंग की पूजा न हो यह पाप है। इसलिए ज्ञानवापी में बैठे हुए बाबा विश्वनाथ की हर रोज पूजा अर्चना शुरू हो जानी चाहिए।

भगवान ढूंढी राज गणेश का मंदिर जहां है वहीं पर रहे‚ काशी से कोई भी प्राचीन मंदिर न हटे

काशी विश्वनाथ गली में ढूंढी राज गणेशजी को हटाने की बात हो रही है। यह प्रारंभ का मंदिर है, प्रारंभ के भगवान हैं।  इस मंदिर में मूर्ति भी भगवान हैं और स्थान भी भगवान हैं। गंगा-यमुना-सरस्वती के संगम पर प्रयाग में कोई मंदिर नहीं है फिर भी यह तीर्थ है। इसलिए हम चाहेंगे भगवान ढूंढी राज गणेश का मंदिर जहां है वहीं पर रहे। वह स्थान पवित्र है। काशी में कोई भी प्राचीन मंदिर न हटे।

करोड़ों हिंदुओ के दिल में रामचरित मानस को लेकर है श्रद्धा

प्राचीन मंदिर को हटाना घोर पाप है। आगे कहा, मैं मानता हूं सीएम योगी और पीएम मोदी हिंदुओ की श्रद्धा का सम्मान कर के एक भी मंदिर नहीं हटाएंगे। ऐसा मुझे विश्वास है। रामचरित मानस के सवाल पर कहा की करोड़ों हिंदुओ के दिल में श्रद्धा है। रामचरित मानस पर सवाल उठाने वालों पर टिप्पणी कर उनकी मार्केटिंग करने का काम नहीं करना चाहिए।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

You missed