इंडिया विमेंस टीम किसी भी लेवल पर पहली ही बार वर्ल्ड चैंपियन बनी है। जूनियर लेवल पर ICC ने पहली बार वर्ल्ड कप आयोजित कराया। वहीं, सीनियर लेवल पर टीम इंडिया कभी भी वर्ल्ड कप नहीं जीत सकी।

 भारतीय अंडर-19 महिला क्रिकेट टीम ने रविवार को इतिहास रच दिया। शैफाली वर्मा के नेतृत्‍व वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम आईसीसी अंडर-19 टी20 वर्ल्‍ड कप की पहली चैंपियन बनी। भारत ने फाइनल में इंग्‍लैंड महिला को 36 गेंदें शेष रहते हुए 7 विकेट से मात दी।

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

नई दिल्लीएजेंशिया।

भारत ने इससे पहले 2005 और 2017 का वनडे वर्ल्ड कप फाइनल खेला। लेकिन, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड से हार गए। वहीं, 2020 के टी-20 वर्ल्ड कप में भारत को ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा। वहीं, 2022 के बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में भी टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा।

भारतीय टीम ने फाइनल में इंग्लैंड को 8 विकेट से हरा कर पहले अंडर-19 विमेंस क्रिकेट वर्ल्ड कप का खिताब जीत लिया है।एसा भारत बना पहली अंडर-19 वर्ल्ड चैंपियन पर कब्जा किया । टॉस जीतकर पहले बॉलिंग करते हुए भारत ने इंग्लैंड को 17.1 ओवर में 68 रन पर ऑल आउट कर दिया। जवाब में 14 ओवर में 3 विकेट पर भारत ने टारगेट हासिल कर लिया। सौम्या तिवारी ने विनिंग शॉट लगाया।

टीम इंडिया के लिए सौम्या तिवारी 24 रन पर नाबाद रहीं। वहीं, कप्तान शेफाली वर्मा 15, गोंगडी त्रिषा 24 और उप कप्तान श्वेता सेहरवात 5 रन बनाकर आउट हुईं। इंग्लैंड के लिए हनाह बेकर, एलेक्स स्टोनहाउस और ग्रेस स्रीवंस ने एक-एक विकेट लिया।

टीम इंडिया ने पावरप्ले में 5 के रन रेट से 6 ओवर में 30 रन बनाए। लेकिन, कप्तान शेफाली वर्मा और उप कप्तान श्वेता सेहरावत के विकेट भी गंवा दिए। शेफाली 15 और श्वेता 5 रन बनाकर आउट हुईं। इंग्लैंड की कप्तान ग्रेस स्रीवंस और हनाह बेकर ने एक-एक विकेट लिया।
इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने पहली बार ही विमेंस का अंडर-19 वर्ल्ड कप आयोजित कराया। 20 ओवर फॉर्मेट में हो रहे टूर्नामेंट की मेजबानी साउथ अफ्रीका को मिली। इंग्लैंड को हराकर टीम इंडिया इस टूर्नामेंट की पहली चैंपियन बनी।

देखे कैसे – कैसे गिरे भारतीय विकेट

पहला : शेफाली वर्मा तीसरे ओवर की पहली बॉल पर कैच आउट हुईं। उन्हें 15 रन के स्कोर पर हनाह बेकर ने पवेलियन भेजा।

दूसरा : श्वेता सेहरावत चौथे ओवर की चौथी बॉल पर ग्रेस स्रीवंस का शिकार हुईं। उन्होंने 5 रन बनाए।

तीसरा : गोंगडी त्रिषा 13वें ओवर की पांचवीं बॉल पर एलेक्सा स्टोनहाउस की बॉल पर बोल्ड हो गईं। उन्होंने 29 बॉल पर 24 रन बनाए।

अर्चना, पार्शवी, साधू को 2-2 विकेट
अर्चना देवी, पार्शवी चोपड़ा और टिटास साधू ने 2-2 विकेट लिए हैं। एक-एक विकेट मन्नत कश्यप, सोनम यादव और शेफाली वर्मा को मिला। एक बैटर रन आउट हुईं। इंग्लैंड के लिए रायना मैकडोनाल्ड-गे ने सबसे ज्यादा 19 रन बनाए।

4 रन पर पवेलियन लौटीं इंग्लिश कप्तान
इंग्लैंड की कप्तान ग्रेस स्रीवंस 4 रन बनाकर आउट हुईं। उनसे पहले एलेक्स स्टोनहाउस 11, सोफिया स्मैल 11, निआम हॉलैंड 10 रन, जोसी ग्रोव्स 4, विकेटकीपर सेरेन स्मैल 3 और केरिस पावले 2 रन बनाकर पवेलियन लौटीं। लीबर्टी हीप और हनाह बेकर खाता भी नहीं खोल सकीं।

पावरप्ले से ही टीम इंडिया रही हाबी
टॉस जीतकर पहले बॉलिंग करते हुए टीम इंडिया ने पावरप्ले में ही इंग्लैंड की कमर तोड़ दी। टीम ने पहले ही ओवर में लीबर्टी हीप को चलता किया। चौथे ओवर में अर्चना देवी ने 2 विकेट लिए और इंग्लैंड का स्कोर 16 रन पर 3 विकेट कर दिया। पावरप्ले के 6 ओवरों में भारत ने इंग्लैंड को 22 रन ही बनाने दिए।

भारतीय टीम का प्लेइंग इलेवन

भारत : शेफाली वर्मा (कप्तान), श्वेता सेहरावत, सौम्या तिवारी, ऋचा घोष (विकेटकीपर), गोंगडी त्रिषा, हरिषिता बसु, टिटास साधू, मन्नत कश्यप, अर्चना देवी, पार्शवी चोपड़ा और सोनम यादव।

इंग्लैंड टीम का प्लेइंग इलेवन

इंग्लैंड : ग्रेस स्रीवंस (कप्तान), लीबर्टी हीप, निआम हॉलैंड, सेरेन स्मैल (विकेटकीपर), रायना मैकडोनाल्ड-गे, केरिस पावले, एलेक्सा स्टोनहाउस, सोफिया स्मैल, जोसी ग्रोव्स, एली एंडरसन और हनाह बेकर।

मेजबान को हराकर शुरुआत की
भारत ने अपने वर्ल्ड कप अभियान की शुरुआत मेजबान साउथ अफ्रीका को हराकर की। टूर्नामेंट के ओपनिंग मैच में 167 रन का टारगेट टीम इंडिया ने 16.3 ओवरों में 3 विकेट पर हासिल कर लिया था। भारत ने फिर UAE को 122 और स्कॉटलैंड को 83 रन से हराकर पूल-डी में टॉप किया।

ऑस्ट्रेलिया से एकमात्र हार मिली
टीम इंडिया 4 पॉइंट्स के साथ सुपर-6 स्टेज में पहुंची। जहां पहले ही मैच में भारत को ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट से हरा दिया। सुपर-6 स्टेज के आखिरी मैच में भारत ने श्रीलंका को 20 ओवर में 59 रन ही बनाने दिए। टीम इंडिया ने फिर 7.2 ओवर में 7 विकेट पर टारगेट हासिल कर लिया। सेमीफाइनल में भारत ने न्यूजीलैंड को 7 विकेट से हराया।

श्वेता बनीं टॉप रन स्कोरर
भारत की उप कप्तान श्वेता सेहरावत फाइनल में 5 रन बनाते ही टूर्नामेंट की टॉप रन स्कोरर बन गईं। उन्होंने 7 मैचों में 297 रन बनाए। इंग्लैंड की कप्तान ग्रेस स्रीवंस 293 रन के साथ दूसरे और शेफाली वर्मा 172 रन के साथ तीसरे नंबर पर रहीं। तीनों ही प्लेयर्स फाइनल में बड़ा स्कोर नहीं बना सकीं।

शेफाली ने बनाया अनोखा रिकॉर्ड
भारत की कप्तान शेफाली वर्मा 28 जनवरी को ही 19 साल की हुईं। ऋषा घोष और वह सीनियर टीम के लिए भी खेल चुकी हैं। रविवार को फाइनल खेलने उतरने के साथ ही शेफाली ने एक अनोखा रिकॉर्ड बना लिया है। वे अंडर-19 विमेंस वर्ल्ड कप, टी-20 वर्ल्ड कप और कॉमनवेल्थ गेम्स का फाइनल खेलने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनी हैं।

2020 के टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने 2 रन बनाए थे। वहीं, 2022 के कॉमनवेल्थ गेम्स फाइनल में वह ऑस्ट्रेलिया के ही खिलाफ 11 रन बना सकी थीं। उन्होंने भारत के लिए 2022 में विमेंस वनडे वर्ल्ड कप भी खेला है। तब टीम फाइनल में नहीं पहुंच सकी थी।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

You missed