भारतीय मूल के नील मोहन को YouTube का नया CEO बनाया गया है। इससे पहले नील मोहन यूट्यूब के CPO थे। उन्हें प्रमोट कर ये जिम्मेदारी दी गई है। नील मोहन Google के साथ 2008 से काम कर रहे हैं। साल 2013 में कंपनी ने उन्हें 544 करोड़ रुपए का बोनस दिया था।

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

नई दिल्ली। बिजनेस डेस्क-नील मोहन पूर्व सीईओ डायने वोज्स्की की जगह लेंगे। सुसान ने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दिया है। 54 साल की वोज्स्की ने कहा था कि वह अपने परिवार के साथ ज्यादा समय बिताना चाहती हैं। साथ ही अपनी सेहत और व्यक्तिगत जीवन पर ध्यान देना चाहती हैं। इसलिए पद छोड़ रही हैं। वे साल 2014 में यूट्यूब की सीईओ बनी थीं।

Youtube के सर्वोत्तम दिन अभी आने वाले हैं-सुसान

सुसान ने नील को यूट्यूब का सीईओ बनाए जाने पर बधाई दी। सुसान ने कहा कि हम शॉर्ट्स, स्ट्रीमिंग और सब्सक्रिप्शन में जो कर रहे हैं वो शानदार है। नील हमें लीड करने के लिए सही व्यक्ति हैं। मुझे यूट्यूब पर उतना भरोसा है, जितना 9 साल पहले था। यूट्यूब के सर्वोत्तम दिन अभी आने वाले हैं।

आइए जानते है भारतीय मूल के Youtube के नये CEO नील मोहन के बारे में

नील मोहन ने स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है। नील ने अपने करियर की शुरुआत ग्लोरफाइड टेक्निकल सपोर्ट से की थी, जहां उन्हें 60,000 डॉलर वेतन मिलता था। इसके अलावा नील ने एसेंचर में सीनियर एनालिस्ट के पद पर काम किया है। फिर वे DoubleClick Inc से जुड़े। इस कंपनी में 3 साल 5 महीने में नील मोहन ने डायरेक्टर, ग्लोबल क्लाइंट सर्विसेज के पद पर काम किया। इसके अलावा करीब ढाई साल वाइस प्रेसिडेंट बिजनेस ऑपरेशन की जिम्मेदारी संभाली।

कई प्लेटफार्म की खाक छानने के बाद बने Youtube के CEO

इसके बाद नील माइक्रोसॉफ्ट से जुड़े, यहां 4 महीने काम करने के बाद वे वापस DoubleClick Inc लौट आए। फिर नील ने यहां 3 साल काम किया। DoubleClick Inc के बाद उन्होंने 2008 में बतौर Senior Vice President, Display and Video Ads गूगल में काम शुरू किया। साल 2015 में उन्हें यू-ट्यूब का चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर बना दिया गया था।

Twitter से मिला था नौकरी का ऑफर

नील मोहन को Twitter की तरफ से नौकरी का ऑफर मिला था। इसका पता जैसे ही गूगल को लगा, गूगल ने उन्हें रोकने के लिए बोनस का ऐलान कर दिया। बोनस देकर गूगल ने उन्हें तीन सालों के लिए अपने पास रोक लिया था। बता दें कि गूगल द्वारा उठाए गए इस कदम के बाद नील मोहन काफी चर्चित हो गए थे।

सैन फ्रांसिस्को में रहते हैं नील मोहन

Youtube के नए सीईओ नील मोहन अपनी पत्नी हेमा सरीम के साथ सैन फ्रांसिस्को में रहते हैं। बता दें कि नील मोहन ने अपने करियर की शुरुआत ग्लोरफाइड टेक्निकल सपोर्ट से की थी। उस वक्त उनकी सालाना इनकम 60,000 डॉलर थी। ग्लोरफाइड टेक्निकल सपोर्ट के बाद उन्होंने डबल क्लिक को ज्वाइन किया था, जिसे 2008 में गूगल ने खरीद लिया था। इसके बाद से ही नील मोहन गूगल कंपनी का हिस्सा बन गए थे।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

You missed