WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
previous arrow
next arrow

जनपद के 34 वें स्थापना दिवस पर कई विभूतियों का किया गया सम्मान

विशेष संवाददाता मिथिलेश प्रसाद ‚द्विवेदी

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

सोनभद्र। जनपद के 34 वें स्थापना दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह ने सभी जनपदवासियों को बधाई और शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए जिले के समग्र विकास की परिसंकल्पना को साकार करने हेतु जनपद वासियों से अपेक्षा की। इस दौरान जनपद को विशिष्ट पहचान देने वाले कई विभूतियोँ को सम्मानित भी किया गया ।

राबर्टसगंज स्थित रामलीला मैदान में जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह के निर्देशन में जनपद सोनभद्र का स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सूचना और जनसंपर्क विभाग द्वारा आयोजित प्रदर्शनी के पंडाल में उल्लेखनीय कार्य करने वाली विभूतियां सम्मानित की गयीं ।

साहित्य में अजय शेखर, संस्कृति के क्षेत्र में विजय शंकर चतुर्वेदी , इतिहास लेखन में डॉ जितेंद्र कुमार सिंह संजय, शिक्षा के क्षेत्र में ओमप्रकाश त्रिपाठी, आजादी के अमृत महोत्सव के कई सफल आयोजन के लिए भोलानाथ मिश्रा, कृषि के क्षेत्र में बाबूलाल मौर्या , धर्म के क्षेत्र में राकेश कुमार त्रिपाठी , चिकित्सा के क्षेत्र में डॉ कुसुमाकर श्रीवास्तव सम्मानित किए गए।

साहित्य लेखन के क्षेत्र में सराहनीय कार्य हेतु डाॅ अर्जुनदास केसरी,संगीत के क्षेत्र में सर्वेश कुमार मिश्र,निरन्तर स्वयं रक्तदान व दूसरों से रक्तदान हेतु प्रेरित करने के क्षेत्र में सरदार बलकार सिंह, खेल कूद के क्षेत्र में लव वर्मा दिव्यांग किक्रेटर, पर्यटन के क्षेत्र में नीरज द्विवेदी को सम्मानित किये जाने की घोषणा की गयी।

जिलाधिकारी के प्रतिनिधि के रूप में उप जिलाधिकारी रमेश कुमार ने इन महानुभावों को विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया ।

सोनभद्र की स्थापना 04 मार्च,1989 को हुई थी‚ यह जनपद मिर्जापुर से काट कर जनपद सोनभद्र के रूप में बनाया गया था

उप जिलाधिकारी ने कहा कि आज हम जनपद सोनभद्र की स्थापना दिवस मना रहे है जनपद सोनभद्र की स्थापना 04 मार्च,1989 को हुई थी यह जनपद मिर्जापुर से काट कर जनपद सोनभद्र के रूप में बनाया गया था। जनपद सोनभद्र की पहचान सांस्कृति विरासत को समटे हुये है। जनपद प्राकृतिक सौन्दर्यता के लिए भी जाना जाता है।

जनपद मे पर्यटन के क्षेत्र में अपार सम्भावनायें

इस जनपद मे पर्यटन के क्षेत्र में अपार सम्भावनायें हैं।इस दौरान उन्होनेसम्मानित व्यक्तियों का अभिनंदन करते हुए कहा कि इन कर्मयोगियों ने जिले को एक पहचान दी है, आज जब जनपद अपनी स्थापना का चौंतीसवां स्थापना वर्ष मना रहा है तो इसके पास कई उपलब्धियां हैं, लेकिन जिले को साहित्य व सांस्कृतिक पहचान इन विभूतियों के कार्यों से ही मिल रही। अपर जिला सूचना अधिकारी विनय कुमार सिंह ने सभी अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया । इस दौरान जिला बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा सोनभद्र की स्थापना व जी-20 पर आधारित रंगोली बनायी गयी थी जिसे वहाॅ पर उपस्थित लोगो ने देखा और सराहा। इसी प्रकार से सूचना एंव जन सम्पर्क विभाग द्वारा केन्द्र एवं प्रदेश सरकार विभिन्न योजनाओं एवं उपलब्धियों एवं विकास से सम्बन्धित प्रदर्शनी लगायी गयी थी। इस मौके पर शेषमणि दूबे , नीतू यति सिंह सहित अन्य कर्मचारीगण उपस्थित रहें।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow