WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
WhatsApp Image 2024-06-29 at 12.
IMG-20231229-WA0088
previous arrow
next arrow

दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मी पर गिरी गाज

बजरंग दल गांव इकाई के अध्यक्ष मंगल पाल के 9 वर्षीय पुत्र को पांच मार्च को अगवा कर लिया गया था। उसका शव मिर्जापुर के एक गांव से बरामद हुआ। पानी में रहने से शव क्षत-विक्षत हो गया था।शव से आ रही थी दुर्गन्ध

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

सोनभद्र। शनिवार को दिनभर हंगामा और प्रदर्शन होता रहा। मामले में सर्विलांस सेल प्रभारी साजिद सिद्दीकी, घोरावल चौकी इंचार्ज वंशनारायण राय और एसआई एसके सोनकर के खिलाफ कार्रवाई की गई है। तीनों को हटाते हुए पुलिस लाइन में बुला लिया गया है। उनकी जगह अभी किसी की तैनाती नहीं हुई है। मामले में अबतक कुल छह आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं। मामला जनपद के पेढ़ गांव निवासी बजरंग दल गांव इकाई के अध्यक्ष मंगल पाल के 9 वर्षीय पुत्र अनुराग पाल की अपहरण कर हत्या का है।

पोस्टमार्टम के बाद अनुराग का शव गांव पहुंचा तो लोग बिफर पडे

शनिवार शाम पोस्टमार्टम के बाद अनुराग का शव गांव पहुंचा तो लोग बिफर पड़े। कुछ देर पहले ही प्रशासनिक अफसरों को ज्ञापन देकर सड़क खाली करने वाले ग्रामीण शव लेकर दोबारा मुख्य मार्ग पर बैठ गए। वह डीएम, एसपी को मौके पर बुलाने की मांग कर रहे थे। पुलिस-प्रशासन के अफसर उन्हें समझाने में लगे रहे।

सुबह नौ बजे से पेढ़ गांव के पास घोरावल-मिर्जापुर मुख्य मार्ग पर जाम लगाए लोगों ने शाम करीब साढ़े पांच बजे रास्ता खाली कर दिया। आजाद समाज पार्टी व भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष रविकांत सिंह के नेतृत्व में जाम लगाए लोगों ने एएसपी कालू सिंह और एसडीएम प्रभाकर सिंह को मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
jpeg-optimizer_bhargavi
WhatsApp-Image-2024-06-22-at-14.49.57
previous arrow
next arrow

हृदय विदारक घटना से आक्रोशित लोगों को मनाने में अफसरों के छूटे पसीने

पोस्टमार्टम के बाद शव आते ही सभी लोग मंगल पाल के घर की ओर रवाना हो गए। परिजन शव लेकर अंदर गए। वहां शव की हालत देख लोग फिर उग्र हो गए। पानी में रहने से शव क्षत-विक्षत हो गया था। उससे दुर्गंध उठ रहा था। वापस लोग शव लेकर सड़क पर आए और फिर धरने पर बैठ गए। मौके पर मौजूद अधिकारी उन्हें मनाने में जुटे रहे।

हृदय विदारक घटना से आक्रोशित लोगों को मनाने में अफसरों के पसीने छूट गए। हजारों की भीड़ के बीच वह बेबस नजर आए। सड़क पर बैठे लोग जाम हटाने के लिए डीएम-एसपी को मौके पर बुलाने और आरोपियों पर ठोस कार्रवाई के लिए आश्वासन चाह रहे थे। वह लगातार यह मांग करते रहे, बावजूद जिले से अधिकारी नहीं पहुंचे।

SP के न आने के कारण भी लोग रहे काफी नाखुश जनता बोली ‚सुशासन का नारा देकर सत्ता में आई भाजपा सरकार में जंगलराज कायम

पुलिस विभाग से एएसपी मुख्यालय कालू सिंह मोर्चा संभाले रहे तो प्रशासन से एसडीएम मौजूद रहे। घटना को लेकर पुलिस के प्रति गहरी नाराजगी के बावजूद एसपी के मौके पर न आने से भी लोग असंतुष्ट दिखे। लोगों का कहना था कि अगर एसपी मौके पर आ गए होते तो शायद जाम काफी पहले ही खत्म हो चुका होता।

सुशासन का नारा देकर सत्ता में आई भाजपा सरकार में जंगलराज कायम है। होली के दिन कुछ युवकों ने किशोर को बेरहमी से पीटकर अधमरा कर दिया था। इसके बाद एक चिकित्सा कर्मी के घर में चोरी और अब बालक के अपहरण कर हत्या की वारदात ने जिले में कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। इस मामले में दोषी पुलिसकर्मियों को निलंबित करने और पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग की।

पुलिस की लापरवाही से हुई घटना‚ लगाम लगा पाने में पुलिस असफल – पूर्व जिलाध्यक्ष भा ज पा

भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष धर्मवीर तिवारी ने घोरावल के अनुराग पाल हत्याकांड पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि मामले में पुलिस का रवैया शुरू से ही लचर रहा। सूचना देने और मुकदमा दर्ज कराने के बाद भी पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। अलबत्ता बालक के पिता पर ही उल्टे शक जताया जाता रहा।

नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी में ही चार दिन लग गए। यह स्थिति तब रही, जब भाजपा के कार्यकर्ता से जुड़ा हुआ था। इससे अन्य मामलों में पुलिस की सक्रियता का अंदाजा लगाया जा सकता है। कहा कि जिले में लगातार आपराधिक घटनाएं बढ़ रही हैं, मगर पुलिस उस पर लगाम लगाने में विफल है।