संयुक्त राष्ट्र भी बनेगा ‘मन की बात’ के 100वें एपिसोड का गवाह, UN हेडक्वॉर्टर में होगा लाइव टेलीकास्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात प्रोग्राम का 100वां एपिसोड 30 अप्रैल को सुबह 11 बजे प्रसारित होगा। 30 मिनट के इस प्रोग्राम का पहला एपिसोड 3 अक्टूबर 2014 को आया था। इसके बाद से हर महीने के आखिरी रविवार को इसका एक एपिसोड लाइव किया जाता रहा

100वें एपिसोड को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी

srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। IIM रोहतक की एक स्टडी के मुताबिक, 100 करोड़ लोग कम से कम एक बार इसे सुन चुके हैं। 23 करोड़ लोग तो इसे हर महीने सुनते हैं। सरकार और पार्टी स्तर पर भी 100वें एपिसोड को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी है। आज के एपिसोड को एक साथ ज्यादा से ज्यादा लोगों की ओर से सुनने का रिकॉर्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

मन की बात के 100 एपिसोड पूरे होने के मौके पर विशेष कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है.  गौरतलब है कि पिछले दिनों आईआईएम रोहतक के द्वारा मन की बात पर विस्तृत सर्वे किया गया, जिसमें यह निकल कर आया था कि मन की बात कार्यक्रम से देश के लगभग 96 प्रतिशत लोग परिचित हैं. अभी तक इस कार्यक्रम को लगभग 100 करोड़ से ज्यादा लोग सुन चुके हैं. लगभग 23 करोड़ लोगों ने मन की बात कार्यक्रम को नियमित रूप से देखा या सुना है.। इसी सर्वे के मुताबिक इसी सर्वे के अनुसार- मन की बात नागरिकों के व्यवहार, विचार एवं मनोस्थिति को सकारात्मक रूप से प्रभावित करती है. लगभग 60 प्रतिशत लोगों ने राष्ट्र निर्माण के लिए कार्य करने में रूचि दिखाई है. लगभग 55 प्रतिशत लोग राष्ट्र के एक जिम्मेदार नागरिक बनने की पुष्टि करते हैं।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow
  • 30 मिनट के इस कार्यक्रम की 100वीं कड़ी 30 अप्रैल को भारतीय समयानुसार पूर्वाह्न 11 बजे और न्यूयार्क में शनिवार देर रात डेढ़ बजे प्रसारित होगी. संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय (UNHQ) में कार्यक्रम का सीधा प्रसारण ऐतिहासिक एवं अभूतपूर्व घटना होगी
  • जिस मंच का दुरुपयोग करता है PAK, वहीं से होगा PM मोदी के ‘मन की बात’ के 100वें एपिसोड का LIVE प्रसारण
  • मन की बात का पहला एपिसोड 14 मिनट का था, जबकि इसकी अवधि दूसरे एपिसोड में 19 मिनट और तीसरे एपिसोड में 26 मिनट की रही. चौथे एपिसोड के बाद से प्रत्येक एपिसोड की अवधि 30 मिनट की है

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) की 100वीं कड़ी का संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सीधा प्रसारण किया जाएगा. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने ट्वीट किया, ‘‘ऐतिहासिक क्षण के लिए तैयार हो जाइए. प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम की 100वीं कड़ी का संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के ‘ट्रस्टीशिप काउंसिल चैंबर’ में 30 अप्रैल को सीधा प्रसारण किया जाएगा.’’

100वें एपिसोड के लिए खास तैयारी…

  • रेल मंत्रालय ने मन की बात कार्यक्रम को खास बनाने के लिए देशभर के रेलवे स्टेशन पर क्यूआर कोड लगाया है। रेल यात्री इसे स्कैन पर आसानी से मन की बात कार्यक्रम को सुन सकेंगे। इसके अलावा देश के हर बड़े स्टेशनों के टीवी स्क्रीन पर मन की बात कार्यक्रम का प्रसारण होगा। छोटे स्टेशनों पर भी रेडियो और मोबाइल के जरिए इसे सुनने की व्यवस्था की गई है।
  • देश के हर राज्य के राज भवनों में ‘मन की बात’ कार्यक्रम सुनवाने का इंतजाम किया जा रहा है। इसमें राज्यपाल के अलावा उस शहर और राज्य के करीब 200 गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहेंगे। इनमें उन लोगों को भी बुलाया जाएगा जिनका नाम मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कभी न कभी लिया हो।
  • संयुक्त राष्ट्र के न्यूयॉर्क स्थित हेडक्वार्टर पर भी 100वां एपिसोड लाइव ब्रॉडकास्ट किया जाएगा। UN में भारत के मिशन ने ट्वीट किया है कि इस ऐतिहासिक पल के लिए तैयार हो जाइए। ये UN हेडक्वार्टर के ट्रस्टी काउंसिल चैंबर में लाइव होगा।
  • रेडियो प्रसारण को एक साथ ज्यादा से ज्यादा लोगों की ओर से सुनने का रिकॉर्ड बनाने के लिए भाजपा ने अपने सभी सांसदों और विधायकों को विशेष इंतजाम करने का निर्देश दिया है। सभी सांसद और विधायक करीब 1 हजार लोगों के साथ इस विशेष प्रसारण को सुनेंगे। इस दौरान हर वर्ग के लोगों को शामिल करने का निर्देश दिया गया है।
  • पार्टी ने इस प्रसारण के जरिए PM मोदी के संदेश को अल्पसंख्यक समुदाय तक पहुंचाने के लिए देशभर में 2,150 जगहों पर प्रसारण को सुनवाने का इंतजाम किया है। मदरसों और दरगाहों जैसी जगहों पर भी इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इसके जरिये 4 से 5 लाख अल्पसंख्यकों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है।