• 8 सभासदों सहित भाजपा ने लहराया परचम ।
  • चकिया की जनता का कोटिशः आभार ‚ उनके विश्वास को डिगने नही दूँगा – नव निर्वाचित चेयरमैन गौरव श्रीवास्तव
  • भगवामय हुआ चकिया नगरपंचायत । हर ओर लग रहे जय श्री राम के नारे।
  • 15 वर्षो का सूखा समाप्त‚ आखिरकार रक्षा मंत्री के गृह नगर में खिला कमल ।
  • विधायक कैलाश आचार्य ने जताई अपार खुशी बताई कार्यकर्ताओं की हुई जीत।
  • कार्यकर्ताओं के बल पर हुई जीत – जिला महामंत्री उमाशंकर सिंह एड०
  • जिला सह संयाेजक विधि प्रकोष्ठ अवनिश दि्वेदी ने जताया हर्ष
  • पार्टी ने जताया सही ब्यक्ति पर भरोषा – किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष अभिषेक मिश्रा
  • अभी तक नही हारे गौरव श्रीवास्तव कोई भी चुनाव

वार्डो से रहे विजई सभासद

भारतीय जनता पार्टी के आठ सभासद तो भाजपा से विलग होकर चुनाव लडे दो निर्दल प्रत्याशी व दो समाजवादी के प्रत्याशी व एक बहुजन के सभासद ने चुनाव में विजई रही।

  • वार्ड न०1 से भाजपा बादल सोनकर।
  • वार्ड न० 2 से बसपा की शाहिन।
  • वार्ड न०3 भाजपा सुनिता सोनकर
  • वार्ड न० 4 से निर्दल केशरी नन्दन।
  • वार्ड न० 5 से भाजपा के रवि गुप्ता।
  • वार्ड न० 6 से भाजपा की मीना विश्वकर्मा।
  • वार्ड न० 7 से भाजपा के उमेश चौहान।
  • वार्ड न० 8 से निर्दल विजय वर्मा।
  • वार्ड न०9 से भाजपा की ज्योति गुप्ता।
  • वार्ड न० 10 सपा के कमलेश यादव।
  • वार्ड न० 11 से सपा के प्रदीप मोदनवाल ।
  • वार्ड न० 12 से भाजपा के रिंकू मोदनवाल।

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

चकिया‚चंदौली। शनिवार को नगर पंचायत मतगणना तेजी से स्थानीय सावित्री बाई फूले राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में ठीक 8 बजे प्रारम्भ हो गई । ठीक एक घंटे बादसे ही रूझान आना प्रारम्भ हो गया। मतगणना केन्द्र पर मीडिया सेन्टर बनाया गया था। बता दे कि नगर पंचायत का चुनाव 4 मई को सम्पन्न हुआ। जिसमें वार्ड न० 3 में सदस्य पद के चुनाव में नाम की हेरा फेरी हो जाने के कारण रि पोलिंग 11 मई को कराई गई।

पूरे जिले में चर्चा का विषय रहा नगर पंचायत चकिया का चुनाव

बता दे कि जिले में चकिया को अनारक्षित की श्रेणी में रखा गया था जिसके बाद यहा पर जमकर टक्कर रही । जिसमें भारतीय जनता पार्टी से गौरव श्रीवास्तव‚समाजवादी पार्टी से मीरा जायसवाल‚ बहुजन समाज पार्टी से कैश खान‚ जन अधिकार पार्टी से अफसार अहमद के साथ ही समाजवादी पार्टी से विमुख होकर निर्दल प्रत्याशी के रूप में भाग्य आजमा रहे रवि प्रकाश चौबे के साथ निर्दल के रूप में अशोक कुमार गाँधी रहे। बता दे कि चुनाव में सभी पार्टियों के प्रत्याशियों ने जोर आजमाइश करने में कोई कसर नही छोडी। वही भाजपा व सपा ने तो सारी हदे ही पार कर दी। बावजूद इसके चकिया की जनता में परिवर्तन की लहर दिखी।

ये पब्लिक है सब जानती है

सबसे बडी खूबी यह रही कि भारतीय जनता पार्टी का परम्परागत मत भी इस बार किस करवट बैठता है देखने की बात होगी। ऐसा कयास लगाया जा रहा था लेकिन सारे कयासों को धता बताते हुए गौरव श्रीवास्तव ने आखिरकार अपने निकटतम प्रतद्वन्दि मीरा जायसवाल को पटखनी दे ही दी। और उन्होने रिकार्ड मतो से जीत दर्ज की। आइए देखते है किसने कितना मत पाया।

अधिवक्ताओं व पत्रकारों ने जमकर दिया था साथ

बता दे कि अधिवक्ताओं व पत्रकारों ने भी जमकर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी गौरव श्रीवास्तव का साथ दिया। अधिवक्ताओं ने अपने विरादरी का होना बताया तो पत्रकारों ने अपनी विरादरी का होना बताया।

सपा के हारने के रहे ये मूल कारण

समाजवादी पार्टी के हारने के मूल कारणों को राजनीति पंडितों के अनुसार माने तो समाजवादी पार्टी ने लगातार दूसरी बार पहली बार में अशोक बागी तो दूसरी बार मीरा जायसवाल को टिकट दिया। वही समाजवादी पार्टी से टिकट मांग रहे अजय कुमार गुप्ता ‚रमेश गुप्ता व रवि प्रकाश चौबे ने भी अपनी प्रबल दावेदारी पेश की थी। यहा तक कि सभी मांगने वाले प्रत्याशी कह रहे थे कि मीरा को टिकट नही दिया जाय चाहे अन्य किसी को दिया जाय। बावजूद इसके मीरा जायसवाल को टिकट दिया जाना कही से भी सपाइयों के गले से नही उतरा। आइए इस रो के अनुसार देखने है क्या रहे मूल कारण।

समाजवादी पार्टी के हारने के प्रमुख कारणः- जिन्हे इस तरह से देखिए सब कुछ हो जायेगा क्लीयर

  • रवि चौबे जो बागी प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड रहे थे उन्होने सपा के ताबूत में कील ठोकने का कार्य किया।
  • सपा से ही टिकट मांग रहे अफसार खान को भी सपा के आलाधिकारी नही मना पाये और वे भी जन अधिकार पार्टी से चुनाव लडे और उन्होने भी सपा के ताबूत में आखिरी कील ठोक दी।
  • सपा के प्रबलतम उम्मीदवार रहे अजय गुप्ता ने भी अपना पर्चा आम आदमी पार्टी से दाखिल किया लेकिन उन्हे तो पार्टी के लोगो ने मना लिया लेकिन वोटरो को नही मना पाये।
  • समाजवादी पार्टी की आपसी कलह ने ही उसे खाँ लिया।
  • यहा का जाति समीकरण पूरी तरह से सपा के पक्ष में होने के बाद भी भाजपा ने उसे पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया।
  • सबसे बडा कारण तो यह रहा कि जनता बदलाव के मूड में थी । कहा जाता है ये पब्लिक है सब जानती है। उसने नये का चुनाव किया।

अध्यक्ष पद के किस प्रत्याशी ने कितना पाया मत

प्रत्याशी का नाम पार्टी मत मिलेरिजल्ट
गौरव श्रीवास्तवभा.ज.पा.4120विजई
मीरा जायसवाल स.पा.3374
कैस खान ब.स.पा160
अफसाद खान जन अधिकार पार्टी 988
रवि प्रकाश चौबे निर्दलीय 849
अशोक गाँधी निर्दलीय 27
नोटा 12
कुल पडे मतो की संख्या 9477
khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow