WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
previous arrow
next arrow

डी डी यू नगर‚चंदौली। चंदौली के सांसद व केन्द्रीय मंत्री महेन्द्र नाथ पांडेय व मुगलसराय विधानसभा से भाजपा विधायक रमेश जायसवाल के पीडीडीयू नगर पालिका और चंदौली नगर पंचायत के मतगणना का परिणाम जारी हो चुका है। दोनों सीट पर चेयरमैन के पद पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने भाजपा उम्मीदवारों को करारी शिकस्त दी है।जिले के एक मात्र नगर पालिका परिषद पीडीडीयू नगर में अध्यक्ष पद के लिए हुए मतगणना के दौरान निर्दलीय प्रत्याशी सोनू किन्नर के समर्थकों ने भारी बवाल किया। मतगणना में धांधली का आरोप लगाकर जमकर प्रदर्शन किया। पुलिस ने रोकने की कोशिश की हाथापाई भी हुई।

ऐसे में फिल्म नायक में फिल्माया गया एक सीन याद आता है जिसमे अमरीसपुरी ( विलेन) बोलता है कि ” बेटा 30 साल का राजनीति का तजुर्बा है हमारा अच्छे अच्छों को चूस कर गुठुलियां फेंक दी हैं ” इस पर फिल्म का नायक जवाब देता है की ” अगर तुम्हारा तजुर्बा 30 साल का है तो 1 साल से तुमसे लड़ते लड़ते मेरा तजुर्बा 31 साल का हो गया है “ डी डी यू नगर में एकदम सटीक बैठता है कि किन्नरों ने बिना अनुभव के ही डी डी यू नगर की चेयरमैनी अपने कब्जे में कर ली।

जनता ने दिखाया पाटियों को आईना

कहते है कि ये पब्लिक है सब जानती है जनता ने सारी कवायदे दरकिनार करते हुए आखिरकार पाटियों को आइना दिखाया और एक किन्नर को सरताज सौप दिया। भारतीय जनता पार्टी से रूष्ट हुई जनता। और लगातार दो बार से भाजपा के गढ को ध्वस्त कर दिया। और सबको आइना दिखा दिया।

यहा पर हमें एक कहावत याद आ रही है कि लोग आपस में कहते है कि क्या किन्नरों की फौज लेकर आये हो। आखिरकार किन्नरों से साबित कर दिया कि वे विधानसभा मुगलसराय में मर्द भी है और औरत भी। आखिरकार किन्नराें के हवाले ही कर दिया नगर पालिका को नगर के मतदातओं ने।

अस्मिता हुई शर्मशार ‚मतगणना में हेरा फेरी को लेकर किन्नरों ने मचाया भारी बवाल के बाद किन्नर के सर पर सजा ताज

आखिरकार हेरा फेरी की घटना को लेकर किन्नर क्यो इतने उग्र हो उठे कि उन्हे अपना आखिरी हथियार अिख्तियार करना पडा। और वे पूरी तरह से पैदाइशी अवस्था में होकर पुलिस की ही लाठी लेकर पुलिस पर ही टूट पडे पुलिस वहा पर मूकदर्शक बनी देखती रह गई। कुछ भी नही कर पाई। पर बडे – बडे दिग्गज रणनीतिकार रणनीति बनाते रहे वही मुट्ठी भर किन्नरों ने रणनीतिकारों के रणनीति को मटियामेट कर के रख् दिया। और उन्होने साबित कर दिया कि जब आम आदमी चाहे तो वह क्या महिला क्या मर्द वह तो किन्नरों के हाथों में भी कमान सौप सकती है। और डी डी यू नगर में कमान सोनू किन्नर के हाथों सौपकर सिध्द कर दिया।

विधायक व सांसद की निकली हवा‚पार्टी का हुआ बंटाधार ध्वस्त हुई रणनीति

बता दे कि विधायक के गृह क्षेत्र पीडीडीयू नगर में सोनू किन्नर चेयरमैन बने हैं।नगर निकाय चुनाव में शनिवार को हुई मतगणना में नगर पालिका पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर के अध्यक्ष का ताज हंगामे और भारी बवाल के बाद निर्दल प्रत्याशी सोनू किन्नर के सिर सजा। सोनू किन्नर ने भाजपा प्रत्याशी मालती सोनकर को 397 मतों से शिकस्त दी। रिटर्निंग आफिसर अविनाश कुमार ने सोनू को विजयी घोषित कर प्रमाण पत्र सौंपा। नगर पालिका क्षेत्र में कुल 61888 मत पड़े थे। पांच चक्रों की मतगणना में नगर पालिका अध्यक्ष पद के निर्दल प्रत्याशी सोनू किन्नर को 18475 मत मिले जबकि उनके निकटम प्रतिद्वंदी भाजपा प्रत्याशी मालती सोनकर को 18078 मत मिले। सोने किन्नर ने 397 मतों से जीत दर्ज की। वहीं सपा की प्रत्याशी अनिता सोनकर को 11523, कांग्रेस प्रत्याशी सविता देवी को 6140, बहुजन समाज पाटी की प्रत्याशी दीपा को 4148, निर्दल प्रत्याशी 342 मत मिले। इस दौरान 196 मतदाताओं ने नोटा का इस्तेमाल किया। जबकि 2986 मत अवैध घोषित किये गये।

सांसदी व विधायकी के क्षेत्र में भाजपा हुई पस्त दोनो जगह से निर्दलों के सर पर सजा ताज

वहीं, चंदौली में सुनील यादव गुड्डू के सिर पर जीत का सेहरा बंधा है। ऐसे में अब सवाल उठने शुरू हो गए हैं कि आखिर जनता भाजपा विधायक रमेश जायसवालव सांसद महेन्द्रनाथ पांडेय से क्यों मुंह मोड़ रही है। आपको बता दें कि पीडीयू नगर पालिका में भाजपा से मालती देवी और निर्दलीय सोनू किन्नर के बीच कांटे का मुकाबला देखने को मिला।

कई प्रत्याशी नहीं पार कर सके दहाई का आंकड़ा
वहीं नगर पंचायत चंदौली के चेयरमैन पद के लिए सुनील यादव गुड्डू को 4594 मत मिले, जबकि भाजपा के ओमप्रकाश सिंह को 4195 मत के साथ दूसरे स्थान पर रहे। वहीं तीसरे स्थान पर बसपा उम्मीदवार 1913 और निर्दल सुदर्शन सिंह को 1095 और आप की रत्ना सिंह को 719 मत प्राप्त कर पांचवे और विवेक गुप्ता ‘पिंकू’ 423 मत पाकर छठे स्थान पर रहे। इसके अलावा अन्य प्रत्याशी दहाई का आंकड़ा प्राप्त नहीं कर सके। ऐसे में अब लोग सवाल उठा रहे हैं कि सैयदराजा के भाजपा विधायक सुशील और चकिया विधायक कैलाश खरवार अपने उम्मीदवारों को जिताने में कामयाब रहे, लेकिन मुलसराय विधायक रमेश जायसवाल के हाथ से भाजपा की दो परंपरागत सीट कैसे फिसल गई। क्या आगामी चुनावों इसका असर पड़ेगा।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow