srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

गोरखपुर के कैंपियरगंज में चौमुखा के वार्ड नंबर 14 निवासी शैलेश चौरसिया की पत्नी सरिता चौरसिया को प्रसव पीड़ा होने पर मां दुर्गा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। ऑपरेशन से बच्चा हुआ। कुछ समय के बाद बच्चे की मौत हो गई। वहीं शाम तक मां की भी मौत हो गई।

गोरखपुर। जनपद में कैंपियरगंज के चौमुखा में स्थित मां दुर्गा हॉस्पिटल में ओटी टेक्नीशियन मोहम्मद असलम सिद्दीकी ने डॉक्टर बनकर ऑपरेशन कर दिया था, जिस वजह से नवजात और प्रसूता की मौत हुई थी। पुलिस ने पांच आरोपियों पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर मैनेजर श्यामसुंदर पासवान और संचालक शैलेंद्र नाथ सोलंकी को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम लगी है। दोनों आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेजा गया।

WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
PlayPause
previous arrow
next arrow

प्रेस कांफ्रेंस कर एस पी दी जानकारी

आरोपी श्यामसुंदर पासवान महराजगंज के कोटा के मुकुंदपुर और संचालक शैलेंद्र गोरखनाथ के पचपेड़वा का रहने वाला हैं। एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर और एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कर पकड़े गए आरोपियों के बारे में जानकारी दी।

आपरेशन केबाद पहले बच्चा मरा फिर जच्चा

एसएसपी ने बताया कि मंगलवार को चौमुखा के वार्ड नंबर 14 निवासी शैलेश चौरसिया की पत्नी सरिता चौरसिया को प्रसव पीड़ा होने पर मां दुर्गा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। मंगलवार की सबुह ऑपरेशन से बच्चा हुआ। कुछ समय के बाद बच्चे की मौत हो गई।हॉस्पिटल में भर्ती महिला की शाम के दौरान हालत बिगड़ने पर हॉस्पिटल का संचालक शैलेंद्र सोलंकी ने दो साथियों के साथ चिलुआताल क्षेत्र के नकहा नंबर एक के पास निर्मला अस्पताल पहुंचा दिया। जहां के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले की सूचना पर चिलुआताल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम कराया था। अब पुलिस केस दर्ज कर आरोपियों को जेल भिजवाया है।

हास्पीटल का रजिस्ट्रेशन 2019 में ही हो गया था समाप्त

एसएसपी ने बताया कि जांच में सामने आया है कि वर्ष 2019 से हॉस्पिटल का रजिस्ट्रेशन खत्म हो गया था। उसके बाद से पंजीकरण नहीं हुआ है। यहां पर काम करने वाले डॉक्टर से लेकर नर्स तक सब फर्जी हैं, किसी के पास कोई डिग्री नहीं है। अब पुलिस दर्ज केस की धारा को हत्या में तब्दील करने की तैयारी में है। पुलिस अब ऑपरेशन करने वाले फर्जी डॉक्टर चिलुआताल निवासी मोहम्मद असलम, टेक्नीशियन व नर्स कैंनियरगंज निवासी अनिता गिरी तथा नीतू भारती की तलाश में जुटी है।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow