• सोशल मीडिया है सक्रिय जिससे हर छोटी – बडी खबर तुरंत आती है सामने
  • सच की दस्तक का छठवां स्थापना दिवस
srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

डी0डी0यू0नगर ‚चंदौली।सच से सबसे बड़ा कोई तपस्या नहीं होता समाज की इससे पहचान बनती है। जहां एक तरफ सोशल मीडिया सक्रिय है। हर छोटी खबर तुरंत सामने आती है वहीं दूसरी तरफ इसकी प्रामाणिकता पर सवाल उठते हैं। ऐसे में सत्य खबर की जरूरत होती है और खबर की प्रमाणिकता प्रिंट मीडिया ही करता है । लेकिन पत्रकारों को खबर की विश्वसनीयता बनाए रखनी चाहिए। पत्र पत्रिका ,साहित्यकारों एवं कवियों की संजीवनी होती है। उक्त बातें सिक्किम के राज्यपाल महामहिम लक्ष्मण आचार्य ने सच की दस्तक के छठवें स्थापना दिवस पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर स्थित अग्रवाल सेवा संस्थान में मुख्य अतिथि पद से सभा को संबोधित करते हुए कहा।

आज पूरे विश्व में भारत की एक नई पहचान ‚देश उत्थान की तरफ निरन्तर हाे रहा अग्रसर

महामहिम ने कहा कि भारत ने सफलतापूर्वक चंद्रयान-3 को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतारा। इससे पहले ऐसा किसी देश ने ऐसा नहीं किया था। आज पूरे विश्व में भारत की एक नई पहचान बनी है प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हमेशा देश उत्थान की तरफ जा रहा है।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

डिजिटल युग में जहां हमें संभावनाएं मिली वही संवेदनाएं टूटी -डॉ0नागेन्द्र सिंह

सम्मान समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में मुगलसराय विधायक रमेश जायसवाल ने कहा कि डिजिटल युग में भी समाचारों की प्रमाणिकता के लिए प्रिंट मीडिया ही आवश्यक है। वहीं मुख्य वक्ता के रूप में डॉक्टर नागेंद्र सिंह ने कहा कि इस डिजिटल युग में जहां हमें संभावनाएं मिली वही संवेदनाएं टूटी हैं, संवेदनाओं के संरक्षण के लिए हमें प्रिंट माध्यमों की तरफ हमेशा रहना ही होगा। वही कार्यक्रम में शिरकत कर रहे प्रोफेसर को गोपबंधु मिश्र ने कहा कि पत्रिका का जो भौतिक रूप होता है उसका विकल्प संस्कृति से उनकी पूर्ति संभव नहीं है प्रमाणिकता में संदेह रहता है इसलिए भौतिक रूप की पत्रिका को ही महत्व देना होगा।

डिजिटल तकनीक और उसका प्रयोग समय की मांग-प्रोफेसर प्रेम नारायण सिंह

कार्यक्रम में अति विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर प्रेम नारायण सिंह ने कहा कि डिजिटल तकनीक और उसका प्रयोग समय की मांग है और पत्र पत्रिका की इसमें अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका है लेकिन साथ में हमें यह भी ध्यान रखना होगा कि हम अपनी जमीन से जुड़े रहकर अपनी संस्कृति अपनी परंपरा समृद्धि जड़ों से जुड़े रहते हुए विकास की एक नई इबादत लिखने का प्रयास करें यह सशक्त एवं समृद्ध व विकसित समाज तथा राष्ट्र के लिए आवश्यक है सच की दस्तक जैसी पत्रिका इसमें अहम भूमिका निभा सकती है।

साहित्यकारों ,कलमकारों, समाजसेवियों,विद्वानों को सिक्किम के राज्यपाल, महामहिम लक्ष्मण आचार्य ने किया सम्मानित

कार्यक्रम में देशभर से आए साहित्यकारों ,कलमकारों, समाजसेवियों,विद्वानों का सिक्किम के राज्यपाल, महामहिम लक्ष्मण आचार्य द्वारा सम्मानित किया गया।

इन -इन प्रतिभाओं को मिला राज्पाल के हाथों सम्मान

वाराणसी के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ,नई दिल्ली की हुमा तनवीर ,देहरादून के शिव मोहन सिंह ,पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर के कृष्णकांत श्रीवास्तव को राज्यपाल द्वारा साहित्य शिल्पी सम्मान दिया गया।
वही अमन कबीर व डॉक्टर अशोक सोनकर जयपुर राजस्थान की डॉक्टर निशा अग्रवाल ,पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर के सतीश जिंदल को सेवा श्री सम्मान प्रदान किया गया ।वही 2023 नारी शक्ति सम्मान औरैया की आकांक्षा सक्सेना को दिया गया तथा खेल श्री सम्मान कुमार नंद को दिया गया। इसी क्रम में सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय गुजरात के पूर्व कुलपति गोप बंधु मिश्र को वैयाकरण केशरी सम्मान, अनिल कुमार सिंह लखनऊ को कलम श्री सम्मान, वाराणसी के मनोज भंडारी को संस्कृत भूषण सम्मान, प्रवीण कुमार मिश्रा को कलाश्री सम्मान दिया गया। वहीं मृदुला श्रीमाली को सेवा श्री सम्मान पत्र दिया गया ।साथ की कसीस को विद्याश्री सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से बृजेश कुमार ,अशोक कुमार विजय कुमार, मनोज उपाध्याय, आकांक्षा सक्सेना अक्षांश इंतखाब, अनूप भारत ,शिव मोहन सिंह ,मृदुल श्रीमाली आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ सुभद्रा कुमारी तथा धन्यवाद ज्ञापन राकेश शर्मा ने किया।

WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
PlayPause
previous arrow
next arrow