WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
previous arrow
next arrow

अनिल द्विवेदी‚ रामयश चौबे की रिर्पोट

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क
चकिया, चंदौली।चकिया उपजिलाधिकारी आवास परिसर में आयोजित कजरी दंगल प्रतियोगिता में कजरी के जवां होने का साक्षी बना उपजिलाधिकारी आवास परिसर । जहाँ पर अपरान्ह पानी में भीगकर भी श्रोताओं का मन मिजाज भांप कर कलाकारों ने एक से एक तराने छेड़े जिस पर श्रोता झूमते नजर आये। जो उधर से गुजरने वाला हर बंदा बिना रुके बिना सुने आगे नहीं बढ़ सका। देर रात तक चले कजरी मुकाबले का लुत्फ लेने वालों की संख्या खूब रही। वही बता दे कि स्टेट के जमाने से यह परम्परा चली आ रही है कि तीज त्योहार के तीसरे दिन बाबा लतीफशाह बाबा के मजार व बनवारी दास बाबा के मंदिर पर मेला लगता है व उसके दूसरे दिन चकिया में कजरी महोत्सव उपजिलाधिकारी परिसर में व तीसरे दिन दंगल प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता रहा है। जिसका यह वर्ष 110 वां साक्षी रहा।

नगर पंचायत के 110 वें कजरी महोत्सव में कई जिलों के कलाकारों ने किया पार्टिसिपेट

कजरी मुकाबले में वाराणसी, जौनपुर , मीरजापुर, सोनभद्र तक के गायकों ने अपनी प्रस्तुति दी। और समा बांधा वाहवाही लूटी। आदर्श नगर पंचायत द्वारा आयोजित 110 वें पारंपरिक कजरी महोत्सव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे विधायक कैलाश आचार्य व विशिष्ट अतिथि उपजिलाधिकारी कुंदन राज कपूर व भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष अभिषेक मिश्रा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर व फीता काटकर माँ सरस्वती के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया‌।जिसके‌ बाद कार्यक्रम में गायक मंगला सिंह चौहान ने मुख्य रूप से स्वागत गीत व सरस्वती वंदना गाया।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

बारिश के बाद भी न तो कलाकारों का जोश कम हुआ और नही श्रोताओं का

वहीं विधायक कैलाश आचार्य ने कहा कि पारम्परिक कजरी महोत्सव में लोग बारिश के बाद भी न तो कलाकारों का जोश कम हुआ और नही श्रोताओं का। सभी मन से सुन रहे हैं।और गायक भी अपनी प्रस्तुति से श्रोताओं को आकर्षित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह अनुठी पुरानी परंपरा कभी टूटनी नहीं चाहिए।और हमेशा चलते रहना चाहिए।जिससे कि परम्परा को जीवन्त रख जा सके। विधायक ने ऐतिहासिक होने वाले कजरी महोत्सव की सराहना भी किया।सरस्वती वंदना के बाद शुरू हुए मुकाबले में देशभक्ति गीत,व कजरी गीत की झड़ी लग गई।

भगवान इन्द्रदेव भी रहे मेहरवान‚जन्म के समय भी बरसे और बरही में भी

कजरी प्रतियोगिता के मध्य भगवान इंद्र ने भी अपने अंदाज में जमकर बरसें। और बारिश से आम श्रोताओं पर कोई असर नही हुआ तथा बैठ कर कजरी का आनंद लिया। वही लोगाें ने बताया कि भगवान श्री कृष्ण के जन्म के दिन भी बरसात हुई थी तब जब सबके धान सूख रहे थे वे जीवन्त हो उठे वही आज फिर से उनके बरही पर भी बरसात हुई।

कलाकारों की मनोहारी प्रस्तुतियों ने बांधा समा‚चला कार्यक्रम देर रात तक

वहीं कार्यक्रम में एक से बढकर एक कलाकारों ने अपनी – अपनी प्रस्तुतियों से कार्यक्रम में चार चाँद लगाये इसी क्रम में उभरती कलाकार सानिया मंसूर ने अपनी प्रस्तुति से बारिश के बीच ऐसा समां बांध दिया कि लोग जाने की बजाय रूक गये।और गीत पर खूब झूमे । कार्यक्रम में नगर पंचायत की ओर से मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि सहित पत्रकारों व सम्मानित जन को स्मृति चिन्ह व माल्यार्पण कर सम्मान किया गया।

कार्यक्रम में रहे इनकी भी गरिमामई उपस्थिति

हीं कार्यक्रम में मुख्य रूप से आदर्श जन चेतना समिति के संरक्षक व बृक्ष बंधु व चंदौली के स्वीप आईकान डॉ परशुराम सिंह‚ किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष अभिषेक मिश्रा, मंडल अध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप सिंह,मंडल अध्यक्ष व जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि डॉ कुंदन गोड, विधायक प्रतिनिधि डॉ केशवमूर्ति पटेल, संतोष सिंह राठौर,के अलावा सभासद गणों में विजय विश्वकर्मा‚ बादल सोनकर, तहसीन खान,केशरी नंदन,रवि गुप्ता,मीना विश्वकर्मा, उमेश चौहान,विजय वर्मा, ज्योति गुप्ता, कमलेश यादव,राधा देवी मोदनवाल,आशु गुप्ता,विजय विश्वकर्मा व परितोष गुप्ता व गोंड समाज के जिलाध्यक्ष रामदुलार गोंड‚पूर्व सभासद राममूरत कुश्वाहा के साथ निर्णायक मंडल में मुसे मुहम्मद जानी, हरिवंश सिंह बवाल,व स्वतंत्र कुमार श्रीवास्तव आदि लोग मौजूद रहे। वहीं कार्यक्रम का सफल संचालन नरेन्द्र लाल श्रीवास्तव व आशु मिश्रा ने संयुक्त रूप से किया।

WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
PlayPause
previous arrow
next arrow