20 नवंबर को उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। इस दिन सूर्योदय 06 बजकर 15 मिनट पर होगा। इस समय व्रती विधि-विधान से पूजा के बाद सूर्य को अर्घ्य दे सकते हैं। इस दिन सूर्य देव को अर्घ्य देते समय अपना चेहरा पूर्व दिशा की ओर ही रखें

रविवार को दुधिया रोशनी से जगमग हो उठे घाट व सरोवर उमडा भक्तों का सैलाब

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क
चंदौली ब्यूरो।
जनपद के विभिन्न सरोवरों, तालाब व पोखरों के घाट के साथ ही साथ अपने -अपने घरो पर भी व्रती महिलाएं मन में परिवार कल्याण की मुराद लिए घंटों कमर भर ठंडे जल में खड़ी नजर आई।

लम्बे इंतजार के बाद जैसे ही आसमान में लालिमा छायी व्रती महिलाओं ने अस्तांचलगामी भगवान भास्कर को पूरी आस्था व श्रद्धा के साथ दिया अर्घ

चकिया काली जी के पोखरे पर लम्बे इंतजार के बाद जैसे ही आसमान में लालिमा छायी व्रती महिलाओं ने अस्तांचलगामी भगवान भास्कर को पूरी आस्था व श्रद्धा के साथ अर्घ दिया और उनसे सुख-समृद्धि व परिवार के सदस्यों के दीर्घायु होने की कामना की। इसके साथ ही चार दिवसीय डाला छठ के कठिन व्रत के तीसरे दिन अर्घ दिया गया।

आमदरफ्त पिछले वर्षो की तुलना में काफी रही अधिक

प्रत्यक्ष देव कहे जाने वाले भगवान भास्कर की उपासना का महापर्व काफी बदला – बदला नजर आया। लोगो की आमदरफ्त पिछले वर्षो की तुलना में काफी अधिक रही । इसके साथ ही ब्रती महिलाओं ने कठोर साधना के साथ ही सडकों पर लेटकर पूरी दूरी तय की। नगर पंचायत व समितियोे द्वारा पूरे बाजार के सडकों की साफ सफाई व धुलाई भी की गई । इसके साथ ही ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से गंदगी न करने की हिदायत भी दी गई।

जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे भी रहे दौडे पर ‚उनके निर्देश पर होता रहा अमल

इसके साथ ही जिलाधिकारी निखिल टी फुंंडे व पुलिस अधीक्षक डॉ अनिल के कड़े निर्देश और लगातार किये गये भ्रमण के चलते पुलिस मोहकमा भी काफी सक्रीय नजर आया। जिलाधिकारी आज भी दौडे पर रहे। और लगातार मानिटरिंग करते रहे। दामोदरदास पोखरे के साथ ही कई सरोवरो पर पहुॅचे।

दोपहर 01 बजे से ही व्रती महिलाओं व श्रद्धालुओं के अर्घ देने के लिए आने का सिलसिला रहा शुरू

दोपहर 01 बजे के बाद व्रती महिलाओं व श्रद्धालुओं के सरोवर के तट पर भगवान भास्कर को अर्घ देने के लिए आने का सिलसिला शुरू हो गया। व्रती महिलाओं व उसके साथ आए परिजनों के सेवार्थ विभिन्न सामाजिक संस्थाओं जिसमें से प्रमुख रूप से चकिया मां काली जी के पोखरे पर मां काली सेवा समिति व युगान्धर सेवा समिति का योगदान प्रसंशनीय रहा। चकिया विधायक कैलाश आचार्य‚ भाजपा के जिलाध्यक्ष काशीनाथ सिंह के साथ ही नगर पंचायत चेयरमैन गौरव श्रीवास्तव के साथ ही उपजिलाधिकारी व अन्य सामजिक कार्यकर्ता भी पूजा के दौरान माैजूद रहे।

srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

बताते चले कि प्रतिष्ठानों द्वारा सहयोग के लिए टेंट लगाया गया था,यही नही समितियों के द्वारा रात्रि विश्राम के लिए भी ब्रतीयों के टेंट लगाये गये है जहाँ पर पूरे इन्तजामात किये गये है। अर्घ देने के लिए शुद्ध गाय का दूध उपलब्ध कराया जा रहा था। इसके अतिरिक्त चाय व काफी के स्टाल भी लगाए गए थे। सुरक्षा की दृष्टि से कोतवाली पुलिस घाट पर सक्रिय दिखी।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow