https://youtu.be/muhHIxZU3e8?si=-06ejjd0emVPmDmI

WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
previous arrow
next arrow

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

नौगढ‚चंदौली। चिर प्रसिद्ध दक्षिण मुखी कोईलरवा हनुमान मंदिर परिसर में आयोजित परंपरागत 05 दिवसीय कार्तिक मेला के आयोजन से वनांचल की सुरम्य वादियों में भक्ति भावना का रस बह रहा है।

प्रकृति प्रदत्त आम चुआं दरी की अलौकिक छठा का भी लोग कर रहे दीदार

वहीं समीप मे ही स्थित प्रकृति प्रदत्त आम चुआं दरी की अलौकिक छठा का भी दीदार कर लोग बाग पेड़ पौधों चट्टानों गुफाओं का बिहंगम दृश्य अपने कैमरों मे कैद कर यादगार के लिए सजोते हैं।
कई प्रदेशों व अनेकों जिलों के रहनुमा आस्थावान निडर व निर्भिक होकर के घने जंगल मे जाकर के जय श्री राम के उद्घोष कर मंदिर मे दर्शन पूजन करके परिवार रिस्तेदार व ईष्ट मित्रों के साथ मिल बैठकर बाटी चोखा व अन्य शाकाहारी ब्यंजन बनाकर के प्रसाद रूप में ग्रहण करते हैं।

मान्यता है कि दक्षिण मुखी कोईलरवा हनुमान जी सदैव अपने भक्तों की रक्षा व सुरक्षा के लिए रहते है तत्पर


मान्यता है कि दक्षिण मुखी कोईलरवा हनुमान जी सदैव अपने भक्तों की रक्षा व सुरक्षा के लिए तत्पर रहते हैं।
जिससे घने जंगल में स्वतंत्र विचरण कर रहे हिंसक जानवरों व जंतुओं ने दर्शन पूजन करने के लिए आने जाने वाले किसी भी श्रद्धालुओं का अहित नहीं किया।

05 वर्ष तक क्षेत्र मे नक्सल गतिविधि के बावजूद भी हनुमान भक्त मंदिर पहुंच कर निर्विघ्न अपने अपने गंतव्य को हुए वापस


वहीं लगातार 05 वर्ष तक क्षेत्र मे नक्सलियों की सक्रियता से कायम रही अशांति के दौर में भी हनुमान भक्त मंदिर पहुंच कर निर्विघ्न अपने अपने गंतव्य को सकुशल वापस हुए।
बड़े बुजुर्गों की माने तो वर्ष 2000 के पूर्व तक कोईलरवा हनुमान मंदिर तक आवागमन का कोई सुविधा नहीं था।
श्रद्धावान घने जंगलों से होकर पगडंडियों के सहारे नौगढ चकिया मुख्य मार्ग से जमसोती गांव में पहुंच कर मंदिर के लिए जाते रहे।
जहां पर पेयजल की घोर किल्लत मे आमचुआं दरी की चट्टानों से निरंतर बह रहे पानी का उपयोग ही गले की तराश को मिटाता रहा।

2007 से गुलजार हुआ कोईलरवा हनुमान जी का क्षेत्र‚जिला पंचायत की हुई मेहरबानी


वर्ष 2007 मे चन्द्रप्रभा वाच टावर से कोईलरवा हनुमान मंदिर होते हुए गैर आबाद गांव गोठौली तक 10 किलोमीटर तक की पक्की सड़क की सुविधा मिलते ही आस्थावानों की संख्या में नित्य प्रति दिन वृद्धि होने लगी।
जिला पंचायत योजनान्तर्गत मंदिर परिसर का बाउन्ड्रीवाल शौचालय स्नानागार छाया का समुचित प्रबंध गौ शाला पुजारी व अतिथि आवास सी सी कार्य व श्रद्धालुओं को भोजन बनाने व समूह में बैठकर खाने की सुविधा का प्रबंध वर्तमान समय में होने के साथ ही 04 हैण्डपम्प की सुविधा भी है।
वहीं कथा मंच व अन्य कार्य प्रस्तावित है।
हनुमान भक्तो के सहयोग से विशालकाय हवन कुंड व प्रभु श्री राम का मंदिर कार्य भी प्रक्रियाधीन है।

महंत श्री श्री 108 श्री रामदास त्यागी ने बताया कि कोईलरवा हनुमान मंदिर से सटे मौजूद भब्य टीन शेड व चबूतरा की सुविधा श्रद्धालुओं को भोजन बनाने व खाने के लिए है।
जिन्हें बार बार निर्देशित किए जाने पर भी लोग कूडा़ करकट दोना पत्तल का निष्पादन समुचित जगह पर नहीं कर के गंदगी फैला देते हैं।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow