WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
PlayPause
previous arrow
next arrow

मुख्तार अंसारी की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई. हार्ट स्ट्रोक की शिकायत पर मुख्तार अंसारी को जेल से अस्पताल में भर्ती कराया गया था

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। बांदा जेल में बंद बाहुबली पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को तबीयत बिगड़ने के बाद मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया. वहीं इलाज के दौरान मुख्तार अंसरी की मौत हो गई है. हार्ट स्ट्रोक की शिकायत पर मुख्तार अंसारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल में मुख्तार अंसारी की हालात काफी गंभीर बताई जा रही थी और उसे आईसीयू में भर्ती किया गया था।

इससे पहले भी इससे पहले भी मुख्तार अंसरी की तबीयत खराब हुई थी. इसे लेकर तब मुख्तार के भाई एवं गाजीपुर से सांसद अफजाल अंसारी ने बताया था कि उन्हें मोहम्मदाबाद थाने से एक संदेश प्राप्त हुआ जिसमें उन्हें बताया गया कि मुख्तार की तबीयत खराब है और उन्हें बांदा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

देर रात गाजीपुर पहुंचेगा मुख्तार अंसारी का शव, शनिवार को होगा सुपुर्द-ए-खाक

मुख्तार अंसारी का शव बांदा से निकल कर चित्रकूट जिले के भरतकूप पहुंचा. लगभग 370 किमी की दूरी अभी और तय करनी है और गाजीपुर पहुंचने में अभी साढ़े 7 घंटे से ज्यादा का वक्त लगेगा। मुख्तार अंसारी का शव पोस्टमार्टम के बाद बांदा से गाजीपुर के लिए रवाना हो गया है. देर रात गाजीपुर में मुख्तार का शव पहुंचेगा. वहीं पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह कहा कि परिजनों का यह कहना है कि कल शनिवार (30 मार्च) की सुबह की नमाज के बाद मुख्तार आंसरी को सुपुर्दे खाक किया जाएगा।

srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

सुनिए मुख्तार और उनके परिवार के बीच वायरल हुए ऑडियो को

वहीं जब बांदा मेडिकल कॉलेज पहुंचे मुख्तार के रिश्तेदार मंसूर अंसारी ने कहा कि उन्हें यह कहते हुए मुख्तार से नहीं मिलने दिया गया कि वह इसके लिए बांदा जेल अधीक्षक से अनुमति लेकर आएं. सांसद अफजाल अंसारी ने कहा कि 21 मार्च को बाराबंकी की अदालत में एक मामले की वर्चुअल माध्यम से सुनवाई के दिन मुख्तार के वकील ने अदालत में दरखास्त दी थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि उसके मुवक्किल को जेल में ‘धीमा जहर’ दिया गया है जिससे उसकी हालत बिगड़ती जा रही है।

मऊ से कई बार विधायक रह चुके मुख्तार अंसारी को विभिन्न मामलों में सजा सुनाई गई है और वह इस वक्त बांदा की जेल में निरुद्ध है. मुख्तार अंसारी पर उत्तर प्रदेश, पंजाब, नयी दिल्ली और कई अन्य राज्यों में लगभग 60 मामले लंबित हैं.l

मुख्तार अंसारी के घर के आगे हुई बैरिकेटिंग

गाजीपुर में मुहम्मदाबाद में मुख्तार अंसारी के घर के आगे बैरिकेटिंग कर दी गई है और सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहीं मीडिया कर्मियों को अब अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है. बांदा से शव यहां लाया जा रहा है लेकिन 8-9 घंटे लगेंगे. 400 किलोमीटर की दूरी है. भारी संख्या में मुख्तार के समर्थक यहां खड़े हैं. मुख्तार को गरीबों का मसीहा बता रहे हैं. उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं यह कहते हुए की उनको जहर देकर मारा गया. शव पहुंचने पर पास के काली बाग कब्रिस्तान में मुख्तार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।

कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्तार अंसारी का शव गाजीपुर के लिए रवाना

मुख्तार अंसारी का शव बांदा से गाजीपुर के लिए रवाना हो गया है. मुख्तार के शव का पोस्टमार्टम होने के बाद उसके शव को लेकर पुलिस गाजीपुर के लिए रवाना हो गई है. कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्तार का शव रवाना हुआ है. मुख्तार के शव के साथ काफिले में करीब एक दर्जन वाहन शामिल हैं, शव के साथ मुख्तार का बेटा उमर अंसारी भी मौजूद है।

मुख्तार अंसारी का शव लेने पहुंचा बेटा उमर अंसारी

मुख्तार अंसारी का शव लेने के लिए बेटा उमर अंसारी बांदा मेडिकल कॉलेज में पहुंचा है. वहीं उमर के साथ अब्बास अंसारी की पत्नी निकहत अंसारी भी मौजूद है. मुख्तार का शव अब गाजीपुर के लिए कभी भी निकल सकता है।

मुख्तार अंसारी के जनाजे में शामिल होंगे परिवार के सदस्य और करीबी रिश्तेदार

मुख्तार अंसारी के जनाजे में परिवार के सदस्यों और करीबी रिश्तेदारों का शामिल होने के अनुमति है. जिनकी संख्या 100 के आसपास होगी उन्हें को शामिल होने की अनुमति रहेगी. वहीं पूर्व राष्ट्रपति हामिद अंसारी के जनाजे में शामिल होने को लेकर अभी तक कोई जानकारी नहीं है।

मुख्तार अंसारी के परिवार ने बांदा के डीएम को दिया प्रार्थना पत्र, जानें क्या की है मांग

मुख्तार अंसारी के परिवार ने शव का पोस्टमार्टम नई दिल्ली के एम्स के डॉक्टर्स के पैनल से कराए जाने की मांग की है. हत्या की आशंका जताते हुए बांदा के डीएम को प्रार्थना पत्र दिया है. मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी की तरफ से दिए गए इस प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि एम्स के डॉक्टर्स अगर पोस्टमार्टम करेंगे तो मौत का सही राज सामने आ सकेगा।

काली बाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक होगा मुख्तार अंसारी

मुख्तार अंसारी के शव को पोस्टमार्टम के बाद गाजीपुर जिले के मोहम्‍दाबाद यूसुफपुर स्थित उसके पैतृक निवास ले जाया जाएगा. पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि अंसारी के शव को काली बाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा जो अंसारी परिवार के आवास से करीब आधा किलोमीटर दूर स्थित है. सूत्रों ने बताया कि इसी कब्रिस्तान में मुख्तार के मां-पिता की कब्र है।

मुख्तार अंसारी की मौत की न्यायिक जांच के आदेश

माफिया मुख्तार अंसारी की मौत मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए गए हैं. मुख्तार अंसारी की गुरुवार को मौत हो गई थी. बांदा जेल में हार्ट अटैक के बाद मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरोंं ने मृत घोषित कर दिया. 

मुख्तार अंसारी की मौत कैसे हुई? दो दिन पहले ही छोड़ दिया था खाना, परिवार ने जताई थी ये आशंका

करीब ढाई साल से बांदा जेल में बंद पूरब के माफिया मुख्तार अंसारी की गुरुवार देर रात हार्ट अटैक (कार्डिया अरेस्ट) से मौत हो गई। मुख्तार को मौत से करीब तीन घंटे पहले ही इलाज के लिए मंडलीय कारागार से मेडिकल कॉलेज लाया गया था। जहां नौ डॉक्टरों की टीम उसके इलाज में जुटी थी। रात करीब साढ़े दस प्रशासन ने मुख्तार की मौत की सूचना सार्वजनिक की। तब तक मुख्तार के परिवार का कोई सदस्य मेडिकल कॉलेज नहीं पहुंचा था।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow