WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
PlayPause
previous arrow
next arrow

चकिया से त्रिनाथ पांडेय की रिर्पोट

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

चकिया‚चंदौली।कहते है कि अन्नपूर्णा के लिए सभी चीजे साफ सुथरी रखी जाती है। कही से भी कोई भी चूक नही रखी जाती है। विकास खंड चकिया के चिन्हित ग्राम पंचायतों में अन्नपूर्णा भवन का निर्माण कराया जा रहा है। प्रत्येक के निर्माण पर लगभग 10 लाख रुपये खर्च करने का प्रावधान रखा गया है। इसमें सिकन्दरपुर ग्राम पंचायत में अन्नपूर्णा भवन का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। वही आप को बता दे कि भीषमपुर गाँव में भवन का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। जहाँ पर मानको की पूरी तरह से खुलेआम धज्जियां उडाई जा रही है। कही भी कोई कार्य मानक के अनुसार नही कराया जा रहा है। हो भी तो क्योें ?

WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
previous arrow
next arrow

प्रधान जी बेजा उठा रहे है ग्राम वासियों के एतबार का फायदा

क्यों कि यहाँ के प्रधान तो लगातार ग्राम वासियों ने अच्छे कार्य के लिए चुनते चले जा रहे है और प्रधान जी पुराने ईट से लेकर दोयम दर्जे के ईट लगवाने से भी परहेज नहीं कर रहे है। जब खबरी ने उनसे जानना चाहा तो कहे कि अरे भाई देख लो हम तो सभी को हजार दो हजार दे कर के ही काम चला लेते है। जब कि शायद उन्हें पता नही है कि खबरी की टीम कभी खबरों से समझाैता नही करती है।

यें मामला चकिया ब्लाक के भीषमपुर ग्राम सभा का

पुराने ईट से भीषमपुर के अन्नपूर्णा भवन निर्माण कार्य किया जा रहा है और भस्सी का प्रयोग किया जा रहा है जो कि मानक के ठीक विपरीत कार्य हो रहा है।वही अधिकारी ब्लाक के मौन धारण किए हुए हैं। कही न कही से सबकी गोटी फीट है। पास के ही गाँधी आश्रम के बिल्डिंग के तोड़े हुवे ईट से नए बिलिंग का निर्माण कार्य चल रहा है।

जब खबरी ने की पडताल तो हुआ मामले का खुलाशा

एक कहावत चरितार्थ हो रही है कि ʺसईयां भये कोतवाल अब डर काहे को‘‘ शायद इनको पता नही कि चौथा स्तम्भ भी होता है जो जनता की आवाज को बुलन्द करने का काम करता है। क्या पुराने ईंट से अन्नपूर्णा भवन बनाने का प्रावधान है? योगी बाबा के आदेश को ताख पर रख कर प्रधान अपने उमंग में मनमानी ढंग से काम करा रहे है और जब हजार दो हजार में सब लोग मैनेज ही हो रहे है तो फिर किस बात का डर?

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

You missed