खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

गोरखपुर। कैंट पुलिस ने पत्नी को रिझाने के लिए दरोगा बनकर रौब जमाने के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार कर लिया। जांच में पता चला कि उसने असली पुलिस दिखने के लिए तीन हजार रुपये में पुलिस की वर्दी खरीद ली थी और फिर कार के डैशबोर्ड पर पुलिस की टोपी रखकर चलता था। इतना ही नहीं पत्नी से उसने हापुड़ में तैनाती होने जैसा झूठ भी बोला था। पत्नी की शिकायत के बाद ही पुलिस ने पूरे प्रकरण की जांच की आरोपी को गिरफ्तार कर शनिवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेजा गया।

दोनों बोल रहे थे एक-दूसरे से झूठ: पति ने खुद को बताया दरोगा तो पत्नी ने कुंवारी बनकर रचाई शादी

आरोपी की पहचान खजनी के कन्दराई गांव निवासी दुर्गेश कुमार पासी के रूप में हुई। एसपी सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई व एएसपी आंशिका वर्मा ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस करके आरोपी के पकड़े जाने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शनिवार को कैंट पुलिस चुनाव को देखते हुए वाहनों की चेकिंग कर रही थी, तभी एक कार सिक्टौर की तरफ से आती दिखी। चेक करने पर कार के डैशबोर्ड पर एक पुलिस की टोपी थी, जांच में सामने आया कि वह नकली दरोगा बन धौंस जमाता है। 

झूठ पकड़े जाने के डर से खरीदी पुलिस की वर्दी और फोटो खींचकर भेजी

आरोपी दुर्गेश ने पुलिस को बताया कि उसने मड़ापर के एक डिग्री कॉलेज से स्नातक किया। इसके बाद एसआई का फॉर्म भरा था। इस बीच उसकी मुलाकात पूजा नामक महिला से हुई, जिसका मायका पिपरौली में था। उसने उसे एसआई के फॉर्म के बारे में बताया। बाद में वह परीक्षा में फेल हो गया। दरोगा के नाम पर ही पूजा ने शादी की थी, लिहाजा उसने यह झूठ बोल दिया कि वह चयनित हो गया और सीतापुर में ट्रेनिंग कर रहा है। पूजा बार-बार फोन करती लिहाज पकड़े जाने के डर से उसने सीतापुर से ही एक ट्रेलर के यहां से पुलिस की वर्दी खरीद ली और फोटो खींचकर भेज दी।

ट्रेनिंग के नाम पर पत्नी के घरवालों से पैसे भी ऐंठें

इसके बाद उसने बताया कि हापुड़ में उसकी पोस्टिंग है। दरोगा होने की सूचना उसने 2022 में दी थी। ट्रेनिंग के नाम पर पूजा के घरवालों से पैसे भी लिए। साथ ही पूजा को लेकर चार माह वह सीतापुर रहा फिर यह कहकर वापस भेज दिया कि हापुड़ पोस्टिंग हो गई। बाद में रूम मिलने पर बुलाएगा। इसके बाद उसने पूजा से बात करना बंद कर दिया, तब पूजा ने पुलिस को तहरीर देकर मुकदमा कराया था। तहरीर के बाद पुलिस जांच में जुटी। पूजा से आरोपी का एक पांच साल का बच्चा भी है।

भाैकाल टाइट सब कुछ राइट की तर्ज पर काम रहा था दुर्गेश

दुर्गेश ने बताया कि उसकी पत्नी पूजा की शादी दस साल पहले बनारस में पहले ही हो चुकी थी। कोर्ट में तलाक का मुकदमा अभी भी पहले पति से चल रहा है, जो बात पूजा ने उसे उससे शादी करने से पहले नहीं बताई थी। शादी के बारे में उसे बाद में पता चला। इस दौरान आरोपी दुर्गेश अपनी एक गर्लफ्रेंड के साथ चार माह से सिंघड़िया पर रह रहा था। उसे भी दरोगा होना बताया था, साथ ही जिस गाड़ी को वह मासिक किराए पर चलता था, उसमें पुलिस को टोपी रख दिया था। जिससे एरिया में उसकी धौंस जमी रहे।

You missed