WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
PlayPause
previous arrow
next arrow

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

नौगढ‚चंदौली। लघु सिंचाई विभाग से स्वीकृत ब्लास्ट कूप निर्माण में मानक के विपरीत कार्य कराए जाने से क्षुब्ध लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री जन सुनवाई पोर्टल पर आनलाईन शिकायत दर्ज व उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र भेज कर के स्थलीय जांच कराए जाने की मांग किया है।

ठेकेदार की मिली भगत से कूप निर्माण में बरती गई घोर अनियमितता

WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
previous arrow
next arrow

भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा जिला महामंत्री राजकुमार वनवासी ने आरोप लगाया है कि जनपद चन्दौली के चट्टानी तहसील क्षेत्र नौगढ में किसानों को सिंचाई सुविधा का लाभ दिलाने के लिए लघु सिंचाई विभाग से वित्तीय वर्ष 2023-24 में लगभग 120 ब्लास्ट कूप निर्माण की स्वीकृति मिली थी।
जिसमें अधिकांश ब्लास्ट कूपों के निर्माण कार्य में संबंधित अवर अभियंता व ठेकेदार की मिलीभगत से बहुत काफी अनियमितता बरती गई है।

ग्रामीणों ने जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायती पत्र भेज कर लगाया आरोप

मनमाने ढंग से कुआं में चट्टानों की ब्लास्टिंग कराए जाने के साथ ही निर्धारित मानक के विपरीत निर्माण कार्य कराया गया है।
ग्राम पढौती के सुदामा पुत्र परगाश रामविलास पुत्र रामधनी निवासी कर्मा बांध लालब्रत पुत्र सरजू राजेन्द्र पुत्र रामजी निवासी ग्राम पण्डी ईत्यादि लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री जन सुनवाई पोर्टल व प्रमुख सचिव एवं मुख्य अभियंता लघु सिंचाई विभाग लखनऊ सहित अन्य उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र भेज कर आरोप लगाया है कि ब्लास्ट कूप की खुदाई गहराई व चौड़ाई मानक से बहुत कम कराकर पत्थर से कराई गई चिनाई में बालू का उपयोग नहीं कराकर भस्सी का प्रयोग कराया गया है।
जिससे चिनाई की गई दीवाल कभी भी धराशाई हो सकती है।

गलत तरीके से एक कुएं पर 9लाख का कराया गया भुगतान

वहीं काफी कम गहरा व चौडा़ ब्लास्ट कूप खोदे जाने से चट्टानी क्षेत्र में जलस्तर नीचे चले जाने पर पानी उपलब्ध नहीं हो पाएगा।
आरोप लगाया कि अभिलेखों में मानक के अनुरूप कार्य दर्शाकर शासन से निर्धारित धनराशि करीब 09 लाख रुपए प्रति कुआं की दर से भुगतान भी करा लिया जा रहा है।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow