srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

अवधेश द्विवेदी की रिपोर्ट

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज़ नेटवर्क

वाराणसी। सोमवार को एक मीटिंग बुलाई गई थी जिसमें केंद्रीय ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष पद से पंडित कमलाकांत उपाध्याय को बर्खास्त कर दिया गया । केंद्रीय ब्राह्मण महासभा के संस्थापक रंजीत उपाध्याय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि केंद्रीय ब्राह्मण महासभा जो मेरे द्वारा दिनांक 6-8-2001, को वाराणसी के सहायक निबंधक कार्यालय में पंजीकृत कराई गई थी जिसका पंजीकरण संख्या 487 है। कतिपय कारणों से यह संस्था तीन भागों में विभक्त हो गई थी ।

मुझसे तीनों गुटों के पदाधिकारियों तथा सम्मानित सदस्यों ने एकता का आग्रह किया मैंने अपने आवास पर तीनों गुटों के पदाधिकारियों सदस्यों की एक आवश्यक बैठक दिनांक 26-2-2023 को आहूत किया जिसमें उपस्थित सभी पदाधिकारी और सदस्यों ने एक एकीकरण के लिए सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किए ।

उसी बैठक में एकीकरण के लिए एक संयोजक समिति बनाई गई। संयोजक समिति में तीनों ही गुटों के वरिष्ठ पदाधिकारी शामिल थे उनसे कहा गया कि वह अपनी एकीकरण के संबंध में सभी पदाधिकारियों से वार्ता कर अपनी रिपोर्ट से अवगत कराएं संयोजक समिति ने मुझे दिनांक 11-03 – 2023 को रिपोर्ट प्रेषित की और बताया कि सभी पदाधिकारी सदस्य एकीकरण के लिए सहमत हैं ।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

कमलाकांत उपाध्याय ने वार्ता करने से ही इनकार किया

लेकिन एक गुट के अध्यक्ष पंडित कमलाकांत उपाध्याय ने इस संदर्भ में वार्ता करने से ही इनकार कर दिया,और असंवैधानिक तरीके से अधिवेशन करने का निश्चय किया हैं।

मैंने रिपोर्ट को सत्यापित करने के उद्देश्य से पंडित कमलाकांत उपाध्याय को फोन किया उन्होंने मुझसे भी कहा कि मैं इस संदर्भ में कोई बात नहीं करना चाहता। जबकि एकता के लिए तीनों गुटों की आहुति बैठक में स्वयं उपाध्यक्ष जी उपस्थित थे। जिसमें पूर्व में संरक्षक मंडल द्वारा केंद्रीय ब्राह्मण महासभा में कोई विवाद की स्थिति उत्पन्न होने पर मुझे अंतिम निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया गया। इसमें संबंधित सरक्षक मंडल द्वारा पारित प्रस्ताव की प्रति सहायक निबंधक कार्यालय में प्राप्त करा दी गई है।
मैं संगठन हित में संगठन की एकता को कायम करने एवं संगठन की एकता में बाधा उत्पन्न कर रहे अवैधानिक रूप से अधिवेशन करने की जिद पर अड़े पंडित कमलाकांत उपाध्याय को वरिष्ठ पदाधिकारियों सदस्यों की सहमति से उन्हें तत्काल प्रभाव से अध्यक्ष पद से बर्खास्त करता हूं ।

पूर्व अध्यक्ष सेंट्रल बार एसोसिएशन वाराणसी को तत्काल प्रभाव से कार्यवाहक अध्यक्ष किया गया नियुक्त

इसके साथ ही उनकी जगह राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एडवोकेट पंडित विवेक शंकर तिवारी पूर्व अध्यक्ष सेंट्रल बार एसोसिएशन वाराणसी को तत्काल प्रभाव से कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त करता हूं ।तथा उन्हें निर्देशित किया जाता है कि वह अपनी कार्यकारिणी के पदाधिकारियों एवं संस्था के सदस्यों की आपात बैठक कर एकता के संबंध में प्रस्ताव पारित कराएं।
निष्कासन की इस प्रक्रिया से सब रजिस्ट्रार सोसाइटी को अवगत करा दिया गया है।