srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

आशु पंडित की रिपोर्ट
खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क
चकिया‚चंदौली। भाजपा के क्षेत्रीय विधायक कैलाश आचार्य के गांव साड़ाडीह में भाजपा के जिला महामंत्री उमाशंकर सिंह घर और पास ही के हिनौती उत्तरी गांव में 22 फरवरी की रात में हुई चोरी की बड़ी घटना का खुलासा पुलिस अभी तक नहीं कर पाई है। जिससे पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था में सेंध और उनकी कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं। हालात यह है कि पुलिस टीम द्वारा बार-बार मौका मुआयना करने और पूछताछ से परिजन भी परेशान हैं। मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने भी मौका मुआयना किया है।

चोरी की घटना का पर्दाफाश करने के लिए कोतवाली पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच की टीम भी नही कर पा रही खुलाशा

पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर चोरी की घटना का पर्दाफाश करने के लिए कोतवाली पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच की टीम लगातार चोरों को पकड़ने के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।
चकिया कोतवाली क्षेत्र के साड़ाडीह गांव में 22 फरवरी की रात चोरों ने भाजपा के जिला महामंत्री उमाशंकर सिंह एडवोकेट के घर को निशाना बनाते हुए 28 हजार नगद सहित 20 लाख रुपए के गहनों पर हाथ साफ कर दिया था। वही हौसला बुलंद चोरों ने उसी रात पास ही के हिनौती उत्तरी गांव में गांव निवासी अशोक सिंह और जगदीश सिंह के घर को भी निशाना बना लिया। चोरों ने अशोक सिंह के घर 25 हजार नगदी सहित चांदी के गहनें और जगदीश सिंह के घर लगभग 50 हजार नगद सहित 1 लाख रुपए के सोने और चांदी के गहनों को पार कर दिया था। चोरी की इतनी बड़ी घटना ने चकिया कोतवाली पुलिस की कार्यप्रणाली की कलई खोल कर रख दी थी।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

पुलिस पर लग रहे सवालिया निशान ǃ देखना है कि पुलिस अपनी सुरक्षा की दीवाल में लगी सेंध को भरते हुए चोरी की घटना का खुलासा कर पाती है या नहींǃ

पुलिस अधीक्षक ने मामले में शिथिलता बरतने पर तत्कालीन कोतवाल मुकेश कुमार को लाइन हाजिर करते हुए मिथिलेश तिवारी को चकिया कोतवाली की कमान सौंपी थी। कोतवाली प्रभारी मिथिलेश तिवारी द्वारा लगातार क्षेत्र में हुई चोरी की बड़ी छोटी घटनाओं का खुलासा करने के लिए सर्विलांस टीम और क्राइम ब्रांच की टीम की मदद लेकर चोरी की घटना में एक-एक पहलुओं की जांच करते हुए चोरों को पकड़ने के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है।

घटना की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग

अब देखना है कि पुलिस अपनी सुरक्षा की दीवाल में लगी सेंध को भरते हुए चोरी की घटना का खुलासा कर पाती है या नहीं।
उधर भाजपा जिला महामंत्री उमाशंकर सिंह एडवोकेट के भाई पूर्व ग्राम प्रधान जनार्दन सिंह उर्फ मुन्ना ने आरोप लगाया कि घटना के 1 माह बीत जाने के बाद भी कोतवाली पुलिस चोरों का पता नहीं लगा पाई है। पुलिस के अधिकारीयों के रोज-रोज के सवाल-जवाब से परिवार के लोग आहत हैं। उन्होंने घटना की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है।