khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
jpeg-optimizer_bhargavi
WhatsApp-Image-2024-06-22-at-14.49.57
previous arrow
next arrow

चकिया क्षेत्र के वनभीषमपुर गांव के पास मोड़ पर अनियंत्रित हुई ट्रैक्टर ट्राली पलटी। घायल आठ लोगों का नगर स्थित चिकित्सालय में चल रहा इलाज। हादसे में तीन की मौत एक शव ट्राली के नीचे दबकर हुआ क्षत विक्षत।

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

चकिया‚चंदौली। चकिया कोतवाली क्षेत्र के वनभीषमपुर गांव के समीप मंगलवार की देर रात्रि बारातियों से भरी ट्रैक्टर ट्राली अचानक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे गड्ढे में पलट गई। जिसमें सवार बाराती गंभीर रूप से घायल हो गए। आवागमन कर रहे लोगों की नजर पड़ी तो तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने बारातियों को बचाने में जुट गये। जिसमें मौके पर एक की मौत हो चुकी थी। घायलों को जिला संयुक्त चिकित्सालय एंबुलेंस की सहायता से लाया गया।जहां इलाज के दौरान एक घायल युवक ने भी दम तोड़ दिया।  एक की हालत गंभीर होने पर उसे ट्रामा सेंटर वाराणसी रेफर कर दिया गया। और अन्य घायलों का इलाज  जिला संयुक्त चिकित्सालय चकिया में ही जारी रहा। कोतवाल मिथिलेश तिवारी ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। और दोनों मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया। मृतकों में एक कि शिनाख्त नहीं हो पाई है। पुलिस शिनाख्त करने की कार्रवाई में जुट गई।

तीन बेटियों के सर से उठा पिता का साया

बिहार प्रांत के चांद थाना क्षेत्र के चंदा गांव निवासी मृतक प्रदीप कुमार की शादी हो चुकी थी। प्रदीप श्रमिक था। ईट भट्ठा पर कार्य कर पत्नी व तीन पुत्रियों के जीवकोपार्जन का सहारा था।

WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
srvs_11zon
Screenshot_7_11zon
WhatsApp Image 2024-06-29 at 12.
IMG-20231229-WA0088
previous arrow
next arrow

नेटवर्क के चलते समय से नहीं हो सका इलाज

वन भीषमपुर गांव स्थित दुर्घटना स्थल पर मोबाइल का नेटवर्क नहीं होने से समय से पुलिस, एंबुलेंस नहीं पहुंच सकी। और न ही समय से घायलों का इलाज हो सका। जंगलों पहाड़ों से घिरे सुदूरवर्ती वनभीषमपुर गांव स्थित दुर्घटना स्थल पर किसी भी कंपनी के मोबाइल नेटवर्क काम नही करने से बराती से लेकर घराती व पुलिस, स्वास्थ्य विभाग सभी परेशान रहे। रात्रि लगभग नौ बजे हुई दुर्घटना की जानकारी पुलिस व एंबुलेंस को घंटे भर बाद जैसे-तैसे मिल सकी।

शव को पोस्टमार्टम गृह में रखवाया

कोतवाली क्षेत्र घटनास्थल से लगभग 15 किमी दूर होने के कारण एंबुलेंस देर से पहुंची। रात्रि 11 बजे घायलों को चकिया जिला संयुक्त चिकित्सालय लाया गया। जहां एक मृतक का चेहरा कुचलकर वीभत्स हो गया था। पहचानना मुश्किल हो गया। दोनों मृतक युवकों को चिकित्सालय के मर्चरी में रख दिया गया। सुबह उसकी पहचान सतीश कुमार के रूप में की जा सकी। 

पूरा समाचार विस्तार से यहाँ देखे

शहाबगंज थाना क्षेत्र के भूसी गांव के रामप्रसाद के लड़के की बारात चकिया कोतवाली क्षेत्र के ताला तेंदुई गांव निवासी प्यारेलाल की लड़की के यहां जा रही थी। जिसमें मंगलवार की देर शाम बाराती ट्रैक्टर ट्राली पर सवार होकर बारात करने जा रहे थे।इसी दौरान क्षेत्र के वनभीषमपुर गांव के पास मोड़ लेते समय अनियंत्रित ट्रैक्टर ट्राली सड़क किनारे गड्ढे में पलट गई। जिस पर सवार आधा दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जानकारी मिलते ही कोतवाल मिथिलेश तिवारी मौके पर पहुंचकर ट्रैक्टर ट्राली में दबे बारातियों को बाहर निकालकर आनंन फानन में बचाव कार्य में जुट गए। जिसमें एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई थी जिसका शिनाख्त नहीं हो पाया है। घायलों में राजेश 32  अभिषेक 14  गुंजन 15  दीपक कुमार 16 सनी 18 चिंटू 12  बिट्टू कुमार और दीपक 26 है। जिनको एंबुलेंस की सहायता से जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद एक घायल युवक की हालत गंभीर होने पर उसे ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया। और इलाज के दौरान घायल हुए बिहार प्रांत के चांद थाना क्षेत्र के चंदा गांव निवासी प्रदीप कुमार 28 ने भी दम तोड़ दिया।  घटना की जानकारी मिलते ही परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया।

You missed