WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
WhatsApp Image 2024-03-20 at 13.26.47
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
jpeg-optimizer_WhatsApp Image 2024-04-04 at 13.22.11
PlayPause
previous arrow
next arrow

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

शामली। देश में आतंकी बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी में थे। इसके लिए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने शामली के दो भाइयों को भी अपने साथ मिला लिया था। STF द्वारा शामली के पकड़े गए कलीम ने पूछताछ में यह चौंकाने वाला खुलासा किया है।

पूरा परिवार मात्र छ दिनों पूर्व पाकिस्तान की जेल से छूटे थे

,एक सप्ताह पहले ही पाकिस्तान की जेल से छूटे शामली के नोकुआं रोड के रहने वाले नफीस, उसका बेटा कलीम और नफीस की पत्नी अमीना छह दिन पहले ही पाकिस्तान की जेल से छूटे थे। तीनों को कस्टम के अधिकारियों ने पकड़ लिया था।

srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

ए एस पी ने बताया कि लगातार सूचनाएं मिल रही थी अराजकता फैलाने के साजिश की

STF मेरठ के एएसपी बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि पिछले कुछ समय से सूचना मिल रही थी कि यूपी का एक गिरोह पाकिस्तान आतंकी संगठन ISI से मिलकर एक आपराधिक षडयंत्र के तहत अवैध असलहों को एकत्र कर भारत देश की एकता, अखंड़ता, सम्प्रभुता, , सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने, भारत की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा को क्षति पहुंचाने करने के प्रयास में बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है।

पाकिस्तान की जेल से छूटकर आये कलीम को हिरासत में लेते ही खुल गई कलई

मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर STF ने छह दिन पहले ही पाकिस्तान की जेल से छूटकर आए शामली के नोकुआं के रहने वाले नफीस के बेटे कलीम को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने खुद को ISI आतंकी संगठन से जुड़े होने की बात स्वीकार की। जांच में सामने आया है कि कलीम अपने भाई तहसीम के साथ आईएसआई के सदस्यों को व्हाट्सएप पर भारत सेना के फोटोग्राफ भेते थे। प्राप्त मोबाइल नंबरों का आईपी एड्रेस भी लाहौर शहर का पाया गया।

भारत में जिहाद फैलाने के प्रति किया जा रहा था प्रेरित

वहीं, जांच में आया कि कुछ व्यक्तियों का समूह अलग-अलग शहरों में आपराधिक षडयंत्र के तहत आम जनता पर अवैध हथियारों से हमले की योजना के उद्देश्य से काम कर रहे हैं। यही नहीं, लोगाें को भारत में जिहाद फैलाने के प्रति प्रेरित किया जा रहा है। आरोपी भारत में मुजाहिद्दीन की जमात बनने की ।

दंगा कराये जाने के लिए दिया जा रहा था प्रलोभन

पूछताछ में पता चला है कि आरोपी कलीम अक्सर पाकिस्तान जाता रहता था। उसकी आईएसआई के कुछ हैंडलरों और सदस्यों से जान पहचान था। रुपयों का लालच देकर आईएसआई ने उसे फंसा लिया था। कहा था कि तुम्हें हथियार, गोला बारूद दिया जाएगा। भारत के विभिन्न स्थानाें पर दंगा कराओ, ताकि भारत में शरीयत कानून के तहत नए सिस्टम को स्थापित कर भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाया जा सके।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow