जापान में 7.5 तीव्रता की भूकंप से पूरा देश कांप गया. लोगों को ऊंची जगहों पर जाने की सलाह दी गई है. आशंका जताई जा रही है कि सुनामी की तेज लहरें तटीय शहरों से टकरा सकती हैं

srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

एजेंशिया। जापान में भूकंप के तगड़े झटके लगने के बाद हजारों की संख्या में आबादी प्रभावित हुई है। इशिकावा में समुद्र की ऊंची लहरें डरा रही हैं। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 7.4 मापी गई है। रूस के तटीय इलाकों में भी सुनामी का अलर्ट जारी किया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक जापान के पश्चिमी तट के पास भूकंप के बाद सुनामी का खतरा मंडरा रहा है। जापान में भूकंप कितना चिंताजनक है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 33 हजार से अधिक घरों में बिजली सप्लाई बाधित हुई है।

भारतीय दूतावास ने जारी किये आपातकालीन नंबर

संवेदनशील और चिंताजनक मंजर के बीच भारतीय दूतावास की तरफ से आपदा से प्रभावित लोगों की मदद के लिए इमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। भारतीय दूतावास ने संपर्क के लिए ई-मेल एड्रेस भी जारी किया है। याकूब टोपनो, अजय सेठी और डीएन बर्नवाल के अलावा एस भट्टाचार्य और विवेक राठी के नंबर जारी किए गए हैं।

Image

जापान में भूकंप के बाद तटीय इलाकों का मंजर भयावह

जापान में भूकंप के बाद राहत और बचाव कार्य में जुटे अधिकारियों और बिजली सप्लाई कंपनियों ने बताया कि भूकंप के केंद्र के आसपास 33,500 घरों की बिजली सप्लाई ठप हो चुकी है। जापान के मुख्य द्वीप होन्शू के बुरी तरह प्रभावित होने की खबर है। इसके अलावा तोयामा, इशिकावा और निगाता प्रांत में भी बड़ी आबादी भूकंप से प्रभावित हुई है।

भूकंप के कारण धंसी सड़कें, जनजीवन बुरी तरह प्रभावित, सड़कें धंसी

भूकंप के कारण कई इलाकों में सड़कें धंस गई हैं। जापान की जनता बड़ी संख्या में प्रभावित हुई है। सड़कों के क्षतिग्रस्त होने के कारण राजमार्ग बंद हो गए हैं। अधिकारियों ने नागरिकों से ऊंचे और सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील की है। जापान की मौसम से जुड़ी एजेंसी ने बताया कि हालात इसलिए भी संवेदनशील हैं क्योंकि केवल 90 मिनट में 21 बार भूकंप के झटके लगे। रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 4.0 या इससे भी अधिक दर्ज की गई। इसके अलावा वाजिमा बंदरगाह पर सुनामी की लहरें देखी गईं। एक मीटर से अधिक लगभग चार फीट ऊंची समुद्री लहरों को देखकर जनता के बीच खौफ पसर गया। अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण (USGS) ने बताया कि इशिकावा प्रांत के नोटो क्षेत्र में स्थानीय समयानुसार एक जनवरी की शाम लगभग 4.10 बजे भूकंप आया। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.5 मापी गई ।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow