अमरेंद्र सिंह

  • वंचितों और गरीबों को अपना घर देने के लिए संकल्पित मोदी सरकार की योजनाओं का अधिकारियों ने लगाया पलीता
  • नहीं मिल सका 9 वर्षो में प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ
srvs-001
srvs
WhatsApp Image 2023-08-12 at 12.29.27 PM
Iqra model school
WhatsApp-Image-2024-01-25-at-14.35.12-1
WhatsApp-Image-2024-02-25-at-08.22.10
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.39
WhatsApp-Image-2024-03-15-at-19.40.40
jpeg-optimizer_WhatsApp-Image-2024-04-07-at-13.55.52-1
previous arrow
next arrow

छोटे-छोटे बच्चों को लेकर वर्षों से अधिकारियों के दफ्तरों की काटती रही चक्कर, विधायक और विकास पुरुष सांसद के उदासीनता से पूजा को नहीं मिल सका 9 वर्षों में प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क
चंदौली। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की शुरुआत वर्ष 2015 में ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा की गई थी इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र के आवास विहीन परिवार जिनके पास ख़ुद का पक्का मकान या रहने को स्थाई घर नहीं है उन्हें आवास उपलब्ध करवाना था ताकि प्रत्येक जरूरतमंद परिवार को आवास योजना के अंतर्गत खुद का घर बनाने का सपना साकार हो सके। वहीं जनपद चंदौली के नियमताबाद ब्लॉक अंतर्गत कठौरी गांव पोस्ट लौंदा निवासनी “पूजा गोंड पत्नी प्रदीप गोंड” अपने दो छोटे-छोटे बच्चों को लेकर वर्षों से अधिकारियों के दफ्तरों की काटती रही चक्कर, विधायक और विकास पुरुष सांसद के उदासीनता से “प्रार्थीनी पूजा देवी पत्नी प्रदीप कुमार गोड़को नहीं मिल सका नव वर्षों में प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ।

मामला विकासपुरूष सांसद के संसदीय क्षेत्र का‚घर पर रातें कटती है या तो आकाश के नीचे या तिरपाल के नीचे

निवासीनी ग्राम कठौरी, पोस्ट लौंदा, ब्लाक नियामताबाद जनपद चंदौली की नवासी है प्रार्थिन पूजा देवी का कहना है की हम प्रार्थीनी के पास रहने को घर नहीं है, सर पर छत नहीं है, तिरपाल लगाकर मेरा सम्पूर्ण परिवार दो छोटे-छोटे के साथ जीवन का गुजर बसर कर रहा है।

मनरेगा जाब कार्ड नही बना‚थक गई सरकारी दफ्तरों का चक्कर काटते–काटते‚गुहार लगाते–लगाते

मेरे पास आय का कोई श्रोत नहीं है ना ही आज तक मनरेगा जॉब कार्ड ही बना है। जिससे की हम पति-पत्नि श्रम करके बच्चों के भरण- पोषण, पढन-पाठन सुचारू रूप से क्रियान्वित कर सके। प्रार्थीनी पूजा देवी द्वारा पूर्व में इससे सम्बन्धित अपनी गुहार जिले के परियोजना डायरेक्टर पंचायती राज्य एवं ग्राम विकास जनपद-चन्दौली, जिलाधिकारी चंदौली, मुख्य विकास अधिकारी, मुगलसराय उपजिलाधिकारी, नियामताबाद खण्ड विकास अधिकारी सहित माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार प्रमुख सचिव पंचायती राज्य एवम ग्राम विकास उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ तक अपनी गुहार लगाने का कार्य किया था। जिस पर मुगलसराय उपजिलाधिकारी ने प्रार्थना पत्र पर ब्लाक अधिकारी द्वारा पात्रता की रिपोर्ट भी पेश की जा चुकी । इसके बावजूद अभी तक आवास आवंटन और जॉब कार्ड नहीं बन पाया।प्रार्थिनी का कहना है की आवास व जॉब कार्ड के अभाव में जलालत भरी जिन्दगी जीनी पड़ रही है। ।

इच्छा मृत्यु जाहिर करना चाहती हॅू ताकि जलालतभरी जिन्दगी से राहत मिल सके

प्रार्थीनी ने कहा हमारा परिवार अनुसुचित जन जाती का है लेकिन सरकार की योजनाओं का लाभ नही मिल रहा है इस लिए उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से सम्पूर्ण परिवारिक सदस्यों सहित इच्छा मृत्यु जाहिर करना चाहती हूं, ताकि सारी परेशानियों का अन्त हो जाय और हमारे परिवार के साथ इस जलालत भरी जीवन जीने से निजात मिल सके ।

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow