UPGIS 2023 is an initiative aligned to the vision of the Hon’ble Prime Minister of India, of making our country a USD 5 Trillion economy, towards which the Government of Uttar Pradesh has set an aspiration target of making the State a USD 1 Trillion economy in next 5 years.

खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेट वर्क विजनेश डेस्क नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश के आर्थिक विकास को बढ़ाने के लिए ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (जीआईएस) का आगाज शुक्रवार से होगा। 3 दिनों में 34 सेशन होंगे। पहले दिन 10, दूसरे दिन 13 और आखिरी दिन 11 सेशन होंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ बढ़ते और बदलते उत्तर प्रदेश के बारे में विचार रखेंगे। अधिकांश सत्रों में केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे। समिट का शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी शुभारंभ करेंगे, जबकि रविवार को इसका समापन राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू करेंगी। ज्यादातर सेशन में केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे। उत्तर प्रदेश वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन (यूपी जीआईएस) के इन्वेस्ट उप्र के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अभिषेक प्रकाश ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट मेंं सुरक्षा का जंबो इंतजाम
ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट के लिए सुरक्षा के भारी भरकम बंदोबस्त किए गए हैं। 24 आईपीएस, 68 पीपीएस तथा 5415 अराजपत्रित अधिकारी कर्मचारी लगाए गए हैं। एंटी ड्रोन सिस्टम के साथ पुलिस और कमांडो, 13 कंपनी पीएसी तथा तीन कंपनी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की तैनात की गई है। एटीएस स्पॉट टीमों को भी लगाया गया है।

देखे कौन – कौन है पार्टनर कंट्री
यूके, जापान, साउथ कोरिया, नीदरलैंड, सिंगापुर, मारीशस, डेनमार्क, आस्ट्रेलिया, यूएई, इटली। 

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट में 22 केंद्रीय मंत्री, विदेशों के तीन मंत्री की मौजूदगी में, 10 हजार बिजनेस लीडर, 50 हजार विजिटर बनेंगे समिट के गवाह 

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट में 304 विदेशी कंपनियों को लाने की है तैयारी
उत्तर प्रदेश में 304 विदेशी कंपनियों को लाने की तैयारी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व अन्य मंत्री खुद निवेश के लिए बातचीत करेंगे. जानकारी के मुताबिक, भारत आने वाली कंपनियों में यूएस की 53, संयुक्त अरब अमीरात की 16, फ्रांस व दक्षिण अफ्रीका की 13-13, जापान की 12 कंपनी, दक्षिण कोरिया की 10, कनाडा की 7, नीदरलैंड की 12, जर्मनी की 15, बेल्जियम की 10, स्वीडन व मॉरिशस की 8-8, ब्राजील की 14, मैक्सिको की 9, आस्ट्रेलिया की 15, इजरायल की 14 कंपनी शामिल हैं. 

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट में प्रमुख कंपनियां- गूगल, एप्पल, रोल्स रॉयस, सुजकी, वालमार्ट, अमेजॉन, जॉनसन एंड जॉनसन, फाइजर,. मर्क, मर्सिडीज, लॉरेल, व फिलिप्स आदि हैं. चार लाख करोड़ की विदेशी निवेश का लक्ष्य है. विदेशी निवेश के लिए 20 सेक्टरों की निवेश नीतियां बनाई गई हैं. 

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट का उद्घाटन सत्र सुबह दस से
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व राज्य के औद्योगिक मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, उद्योगपति मुकेश अंबानी, के चंद्रशेखरन, कुमार मंगलम बिरला व आनंद महिंद्रा।

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में द‍िखेगा भाजपा का स‍ियासी दॉव पेंच

यह संदेश देकर कि अपनी नीतियों की बदौलत उसे देश ही नहीं, सात समुन्दर पार के निवेशकों का भरोसा भी हासिल है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित भाजपा के तारामंडल के सदस्यों की उपस्थिति सम्मेलन के मंच से भाजपा के सियासी रसूख का भी अहसास कराएगी। समिट के माध्यम से आने वाला निवेश प्रदेश की अर्थव्यवस्था को ईंधन देगा। यह प्रदेश में रोजगार की संभावनाओं के द्वार खोलेगा। नोएडा-ग्रेटर नोएडा समेत पश्चिमी उप्र तक सीमित रहे निवेश और औद्योगिकीकरण को विकेंद्रीकृत कर प्रदेश में क्षेत्रीय विषमताओं को दूर करने में मददगार साबित होगा।

दोपहर 2.30 से 4 बजे तक
यूपी डिजाइनिंग एंड मैन्यूफैक्चरिंग इन इंडिया फॉर द वर्ल्ड विषय पर चर्चा। मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव होंगे।
टूरिज्म लीवरेजिंग कल्चरल हैरिटेज फॉर मॉडर्न एंड प्रोग्रेसिव उत्तर प्रदेश विषय पर केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी बतौर मुख्य अतिथि चर्चा करेंगे। 
सिंगापुर पार्टनर कंट्री सेशन में यूपी सरकार के मंत्री एके शर्मा व स्वतंत्र देव सिंह मौजूद रहेंगे।
सस्टेनेबल डवलपमेंट थ्रू रिनीवल एनर्जी सत्र में केंद्रीय मंत्री आरके सिंह मुख्य अतिथि की भूमिका में होंगे।

शाम 4.30 से 6 बजे तक
एडवांटेज उत्तर प्रदेश डिफेंस कॉरिडोर विषय पर चर्चा में मुख्य अतिथि केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हिस्सा लेंगे।
ओडीओपी इम्पावरिंग ट्रेडिशनल इंडस्ट्री पर संगोष्ठी में मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी होंगी।
अपॉर्चुनिटी  फूड प्रोसेसिंग लिवरेजिंग फूड बॉस्केट ऑफ  इंडिया विषयक सत्र के मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस होंगे।
डेनमार्क पार्टनर कंट्री सत्र में मुख्य अतिथि डेनमार्क के मंत्री अपने विचार व्यक्त करेंगे। 

6.30 से रात्रि 8 बजे तक
एनआरआई अवॉर्ड व सांस्कृतिक सांझ सत्र में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे।

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट का दूसरा दिन : 11 फरवरी
सुबह 10 से 11.15 बजे तक

नीदरलैंड पार्टनर कंट्री सत्र में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य रहेंगे।
जापान पार्टनर कंट्री सत्र में संस्कृति व पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह अपनी बात रखेंगे।
यूएई पार्टनर कंट्री सत्र में एमएसएमई मंत्री राकेश सचान बतौर अतिथि मौजूद रहेंगे। 
अफरमेटिव एक्शन पॉलिसीज फॉर इनक्लूजिव ग्रोथ सत्र में मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र कुमार रहेंगे।

दोपहर 11.45 से 1 बजे तक
यूपी इज ओपन फॉर बिजनेस प्रोवाइडिंग न्यू अपॉर्चुनिटी फॉर एमएसएमई एंड को-ऑपरेटिव्स सत्र के मुख्य अतिथि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ होंगे।
हैंडलूम एंड टेक्सटाइल्स सेशन वीविंग इंडियाज ग्रोथ स्टोरी सत्र में प्रदेश सरकार के मंत्री राकेश सचान रहेंगे।
हेल्थ केयर थ्रू द इन्वेस्टर लेंस पोस्ट कोविड सीनारियो सत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया मौजूद रहेंगे।

दोपहर 2 से 3.15 तक
आईटी आईटीज एंड डाटा सेंटर्स इन उत्तर प्रदेश सर्विंग द वर्ल्ड पर संगोष्ठी में केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर रहेंगे।
फॉर्मास्युटिकल एंड बॉयोटेक्नोलॉजी स्टेथेनिंग द ईको सिस्टम इन उत्तर प्रदेश को  केंद्रीय मंत्री सर्वानंद सोनोवाल संबोधित करेंगे।
पार्टनर कंट्री सेशन ऑस्ट्रेलिया पर सत्र में प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वतंत्र देव सिंह रहेंगे। 

दोपहर 3.45 से शाम 5 बजे तक
उत्तर प्रदेश गियरिंग फॉर स्टार्टअप रिव्युलिशन द नेक्स्ट बिग अपॉर्चुनिटी इन यूपी पर सत्र में केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर रहेंगे।
अनब्लॉकिंग अपॉर्चुनिटी इन डेयरी एंड एनिमल हैसबेंडरी सेक्टर पर सत्र में केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला मौजूद रहेंगे।
सिविल एविएशन इन उत्तर प्रदेश द इमर्जिंग अपॉर्चुनिटी सत्र में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मौजूद रहेंगे।

12 फरवरी: ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट का तीसरा दिन
सुबह 10 से 11.15 तक

यूपी द इमर्जिंग वेयर हाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स हब ऑफ इंडिया सत्र। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल व सोम प्रकाश मौजूद रहेंगे।
यूके पार्टनर कंट्री सत्र में प्रदेश सरकार के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना रहेंगे।
यूपी ऑपर्च्युनिटीज इन एक्साइज एंड शुगर इंडस्ट्री सत्र को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल संबोधित करेंगे। 
ई-मोबिलिटी, व्हीकल एंड फ्यूचर मोबिलिटी पर संगोष्ठी में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी मौजूद रहेंगे।

सुबह 11.45 से 1 बजे तक
रिइमेजनिंग सिटिज एज ग्रोथ सेंटर फॉर न्यू उत्तर प्रदेश सत्र में केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी रहेंगे।
डिकोडिंग द इनवेस्टमेंट पोटेंशियल ऑफ  द सपोर्ट सेक्टर इन उत्तर प्रदेश एंड इट्स रोल इन द वन ट्रिलियन इकॉनमी सत्र में मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर रहेंगे।
रिइन्वेटिंग स्किल डवलपमेंट इको सिस्टम इन उत्तर प्रदेश सत्र में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान मुखातिब होंगे।

दोपहर 2 बजे से 3.30 बजे तक
चेंजिंग फाइनेंसियल लैंडस्केप इन उत्तर प्रदेश ए बैंकर्स राउंड टेबल मार्चिंग टूवर्ड वन ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी पर सत्र में  केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मौजूद रहेंगी।
मीडिया एंड एंटरटेनमेंट द इंडियन डिजिटल ग्रोथ स्टोरी सत्र में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर रहेंगे।
डिकोर्डिंग नेशनल एजुकेशन पॉलिसी-2022 पर सत्र को केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह संबोधित करेंगे। 

देश के दिग्गज उद्योगपति बढ़ाएंगे ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट की रंगत

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 में देश के दिग्गज उद्यमी और निवेशक एक छत के नीचे जमा होकर उत्तर प्रदेश में तेजी से आगे बढ़ते औद्योगिक और अर्थिक विकास का संकेत देंगे। रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी, टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन, आदित्य बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम बिड़ला, महिंद्रा एंड महिंद्रा के चेयरमैन आनंद महिंद्रा, वेदांता ग्रुप के अनिल अग्रवाल और हीरानंदानी ग्रुप की ओर से सत्र में यूपी में लाखों करोड़ के निवेश की घोषणा भी की जाएगी।

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट में यूएसआईएसपीएफ के मुकेश अघी, एबॉट न्यूट्रिशन के स्वाति दलाल, अग्रवाल पैकर्स एंड मूवर्स के नवनीत अग्रवाल, टाटा मोटर्स के महेश सुगरू, इकाना ग्रुप के उदय सिन्हा, अर्न्सट एंड यंग के आदिल जैदी, फिल्पकार्ट के धीरज कपूर, गलगोटिया यूनिवर्सिटी के ध्रूव गलगोटिया, ग्रीन फ्लाई के दिनेश गुप्ता, हल्दीराम ग्रुप के राजीव गर्ग भी शामिल होंगे। वहीं, इंडिया ऑयल कॉरपोरेशन के संजीव कक्कड़, आईटीसी के प्रदीप दीक्षित, जेबीएम ग्रुप के आशीष अग्रवाल, रेडिको खेतान के अमर सिन्हा, ज्यूरिख एयरपोर्ट एशिया के सीईओ डेनियल बिर्चर, सैमसंग ग्रुप के ह्मू किम, शारदा यूनिवर्सिटी के प्रदीप कुमार गुप्ता, अल्ट्रा टेक सीमेंट कंपनी के कैलाश चंद झंवर, यूनाइटेड ग्रुप के डॉ. जगदीश गुलाटी सहित तीन सौ से अधिक उद्यमी मौजूद रहेंगे।

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट के माध्यम से जिलों में हेल्थ सेंटर स्थापित करेगा रियालंस ग्रुप
मुकेश अंबानी की रिलायंस कंपनी यूपी में आगामी चार वर्षों में सवा लाख करोड़ से अधिक का निवेश करेगी। कंपनी की ओर सेजिलों में एक-एक हेल्थ सेंटर स्थापित किया जाएगा। इनमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिये दूर-दराज के गांवों में बैठे मरीजों को सस्ता इलाज सुलभ होगा। प्रदेश में 5जी कनेक्टिविटी के विस्तार के साथ सभी जिलों में जियो सेंटर ऑफ टेक्नोलॉजी स्थापित किए जाएंगे। इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग, हाईड्रोजन और नवीनीकृत ऊर्जा के क्षेत्र में भी कंपनी निवेश करेगी। मुकेश अंबानी समिट के उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे।

कॉमर्शियल इलेक्ट्रिक वाहन का प्लांट लगाएगा टाटा समूह
टाटा समूह यूपी में आगामी चार वर्षों में 50 हजार करोड़ का निवेश करेगा। इसके तहत इलेक्ट्रिक कॉर्मिशियल वाहनों का प्लांट स्थापित होगा। आगरा, वाराणसी, लखनऊ के बाद अयोध्या सहित अन्य शहरों में नए ताज होटल खोले जाएंगे। प्रदेश के प्रमुख शहरों से एयर इंडिया की ओर से विमान सेवा शुरू की जाएगी। ऊर्जा, नवीनीकृत ऊर्जा और हाइड्रोजन एनर्जी प्लांट के साथ टाटा फूड प्रोसेसिंग और सेमीकंडक्टर यूनिट स्थापित करने में भी निवेश करेगा। टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन भी सत्र को संबोधित करेंगे।

गोरखपुर में बनेंगे मोबाइल, लैपटॉप स्क्रीन के ग्लास
वेदांता ग्रुप चार वर्षों में 20 हजार करोड़ के निवेश की घोषणा कर सकता है। कंपनी गोरखपुर में ग्लास मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित करेगी। प्लांट में मोबाइल और लैपटॉप की स्क्रीन में लगने वाले ग्लास बनाए जाएंगे। कंपनी नोएडा में इलेक्ट्रिक व्हीकल प्लांट भी स्थापित करेगी।

बाराबंकी में गोदरेज का प्लांट 
गोदरेज ग्रुप की ओर से यूपी में 4 कारखाने स्थापित किया जाएगा। कंपनी प्रॉपर्टी के क्षेत्र में 20 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगी। बाराबंकी में भी प्लांट स्थापित किया जाएगा। 

डाटा सेंटर स्थापित करेगा आदित्य बिड़ला ग्रुप
आदित्य बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम बिड़ला 20 हजार करोड़ रुपये के निवेश से फूड प्रोसेसिंग प्लांट, डाटा सेंटर, वेयर हाउसिंग के क्षेत्र में निवेश की घोषणा कर सकते है। कुमार मंगलम बिड़ला भी सत्र को संबोधित करेंगे।

ईवी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाएगा जिंदल ग्रुप
सज्जन जिंदल की ओर से कानपुर में एक मंदिर, नैमिषारण्य धाम के विकास, पेंट निर्माण, ईवी मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में 11 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा हो सकती है। 

सेमीकंडक्टर यूनिट बनाएगा हीरानंदानी ग्रुप
हीरानंदानी ग्रुप की ओर से यूपी में विदेशी कंपनी के सहयोग से 40 हजार करोड़ की लागत से सेमीकंडक्टर प्लांट लगाने की घोषणा हो सकती है।

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में नहीं आएंगे गौतम अदाणी
हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद हुए विवाद के बीच देश के प्रमुख उद्योगपति गौतम अदाणी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में शामिल नहीं होंगे। प्रदेश सरकार की ओर से अदाणी को समिट में आमंत्रित किया गया था। अदाणी की ओर से समिट में शामिल होने की सहमति नहीं दी गई है। मुंबई रोड शो के दौरान अदाणी के बेटे करण ने समिट में करीब सवा लाख करोड़ रुपये के निवेश का आश्वासन दिया था। कंपनी की ओर से निवेश का करार किया जा सकता है। 

khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

You missed