खबरी पोस्ट नेशनल न्यूज नेटवर्क

चंदौलीे। शुक्रवार को को माननीय राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशानुसार जनपद चन्दौली में सुबह 10:00 बजे से सदर तहसील सभागार में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन जनपद न्यायाधीश चन्दौली माननीय सुनील कुमार -IV के द्वारा सरस्वती प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित करके शुभारम्भ किया गया।

राष्ट्रीय लोक अदालत में पूरे जनपद भर में न्यायिक अधिकारियों द्वारा निपटाएं गये मुकदमें

राजीव कमल पाण्डेय, प्रधान न्यायाधीश / परिवार न्यायालय, नरेन्द्र कुमार झा, पीठासीन अधिकारी मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण, राजेन्द्र प्रसाद, अपर जनपद न्यायाधीश / विशेष पाक्सो एक्ट, विनय कुमार-III, अपर जनपद न्यायाधीश प्रथम, ज्ञान प्रकाश शुक्ल अपर जनपद न्यायाधीश / पूर्णकालिक सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, चन्दौली श्याम बाबू अपर जनपद न्यायाधीश (एस०सी०/एस०टी०) चन्दौली, योगेश नारायण सिह, अध्यक्ष स्थायी लोक अदालत, चन्दौली, दीपककुमार मिश्रा, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट चन्दौली, संदीप कुमार, सिविल जज (सीनियर डिविजन) चन्दौली, विकास कुमार वर्मा सिविल जज (सीनियर डिविजन / एफ०टी०सी०) / नोडल अधिकारी राष्ट्रीय लोक अदालत, कुंवर सुर्यसेन सिंह, न्यायिक मजिस्ट्रेट, शिरीष पटेल सिविल जज (जूनियर डिवीजन) चकिया चन्दौली, श्रीमती शिप्रा सिंह, सिविल जज (जू०डि०) चन्दौली, नरेन्द्र कुमार यादव अपर सिविल जज (जूनियर डिवीजन), चकिया चन्दौली‚श्रीमती स्नेहा सिंह, सिविल जज (जूनियर डिवीजन) एफ.टी.सी., सिविल बार ऐशोसिएशन, चन्दौली के अध्यक्ष व महामंत्री श्री चन्द्रभानु सिंह तथा अनिल कुमार सिंह एवं डिस्ट्रीक डेमोक्रेटिक बार ऐशोसिएशन, चन्दौली के अध्यक्ष व महामंत्री जय प्रकाश सिंह तथा राजबहादुर सिंह उपस्थित थे।

जनपद न्यायालयों द्वारा निपटाएं गये वादों का विवरण

समस्त न्यायालयों एवं तहसील परिसर स्थित न्यायालयों में राष्ट्रीय लोक अदालत जनपद के समस्त बैंकों द्वारा फिजिकल मोड में राष्ट्रीय लोक अदालत आयोजित किया गया। जनपद न्यायालयों द्वारा निम्नलिखित वादों का निस्तारण किया गया है।

  1. श्रीमान जनपद न्यायाधीश श्री सुनील कुमार चतुर्थ द्वारा कुल 11 इजरा वादों का निस्तारण किया गया जिसमें 3,00,500 /- प्रतिकर दिया गया।
  2. पीठासीन अधिकरी मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण चन्दौली श्री नरेन्द्र कुमार झा द्वारा कुल 41 एम.ए.सी.टी.वादों का निस्तारण कर रूपये 2,67,54,800/- का समझौता राशि दिया गया।
  3. प्रधान न्यायाधीश / परिवार न्यायालय श्री राजीव कमल पाण्डेय, कुल 45 वादों का निस्तारण किया गया
    जिसमें 14 जोड़े साथ भेजे गये तथा समझौता राशि रूपया 29,41,000/- दिया गया।
    4.अपर जनपद न्यायाधीश प्रथम श्री कुमार-III द्वारा कुल 140 वादों का निस्तारण किया गया तथा 05
    इजराय वाद का निस्तारण कर 1,27,200/- का प्रतिकर दिया गया।
    5.श्री राजेन्द्र प्रसाद, अपर जनपद न्यायाधीश/ विशेष पाक्सो एक्ट द्वारा कुल 01 कीमिनल वाद निस्तारित
    कर रूपया 500/- जुर्माना वसूल किया गया।
    6.मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री दीपक कुमार मिश्रा, द्वारा कुल 08 फौजदारी वाद का निस्तारण कर रुपया 8300/- जुर्माना वसूल किया गया एवं कुल 2542 ई-चलान वाद का निस्तारण कर रुपया 9,37,430/जुर्माना वसूल किया गया।
    7.सिविल जज (सीनियर डिविजन) श्री संदीप कुमार द्वारा कुल 1015 वाद का निस्तारण कर कुल रुपया
    3,18,210 / – जुर्माना वसूल किया गया तथा 16 उत्तराधिकार वादों का निस्तारण कर रुपया 39,94,772/- का उत्तराधिकार प्रमाण जारी किया गया।
  4. सिविल जज (सीनियर डिविजन/ एफ.टी.सी.) श्री विकास वर्मा द्वार कुल 201 वाद का निस्तारण कर कुल
    रुपया 50,900 /- जुर्माना वसूल किया गया।
    9.सिविल जज (जूनियर डिवीजन) श्रीमती शिप्रा सिंह द्वारा कुल 511 वादों का निस्तारण कर कुल रुपया
    6780/- जुर्माना वसूल किया गया।
  5. न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री कुंवर सुर्यसेन सिंह, द्वारा कुल 2135 वादों का निस्तारण कर रु0 85000/- जुर्माना वसूल किया गया
    11.सिविल जज (जूनियर डिवीजन) चकिया, श्री शिरीष पटेल द्वारा कुल 316 वादों का निस्तारण किया गया
    जिसमें कुल रुपया 70,810 /- जुर्माना वसूल किया गया।
    12.अपर सिविल जज (जूनियर डिवीजन) चकिया श्री नरेन्द्र कुमार यादव द्वारा कुल 258 वादों का निस्तारण कर रुपया 12,350/- जुर्माना वसूल किया गया।
    13.अपर सिविल जज (जूनियर डिवीजन) एफ.टी.सी श्रीमती स्नेहा सिंह द्वारा कुल 914 वादों का निस्तारण कर 15,690/- जुर्माना वसूल किया गया।
  6. उपरोक्तानुसार जनपद न्यायालयों द्वारा कुल 10517 मुकदमों का निस्तारण किया गया।
  7. सभी बैंकों द्वारा कुल 1891 ॠण खातों का निस्तारण कर रूपया 9,44,48000/- का समझौता किया गया एवं रूपया 4,87,64,472/- नकद वसूला गया।
  8. जनपद के सभी राजस्व न्यायालयों द्वारा कुल 60544 मामलों का निस्तारण किया गया।
    उक्त सूचना जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव श्री ज्ञान प्रकाश शुक्ल द्वारा दी गई।
    उपरोक्त अनुसार जनपद न्यायालय द्वारा वसूल किए गया अर्थदंड की धनराशि रुपया 15,05,970/- तथा दिलाए गए उत्तराधिकार प्रमाण की धनराशि रुपया 39,94,772/- है, तथा उक्त समस्त न्यायालयों द्वारा निस्तारित किए गए कुल मुकदमों की संख्या 72952 है।
khabaripost.com
sagun lan
sardar-ji-misthan-bhandaar-266×300-2
bhola 2
add
WhatsApp-Image-2024-03-20-at-07.35.55
previous arrow
next arrow

You missed